Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

ब्लॉग बुलेटिन - ब्लॉग रत्न सम्मान प्रतियोगिता 2019

बुधवार, 18 जुलाई 2018

100वां जन्म दिवस - नेल्सन मंडेला और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार।
Nelson-Mandela.png
नेल्सन मंडेला (अंग्रेज़ी: Nelson Mandela, जन्म:18 जुलाई, 1918 - मृत्यु: 5 दिसम्बर, 2013) दक्षिण अफ़्रीका के भूतपूर्व राष्ट्रपति थे। नेल्सन मंडेला यहाँ के प्रथम अश्वेत राष्ट्रपति बने थे। उन्होंने अपनी ज़िंदगी के 27 वर्ष रॉबेन द्वीप पर कारागार में रंगभेद नीति के ख़िलाफ़ लड़ते हुए बिताए।

मबासा नदी के किनारे ट्राँस्की के मवेजों गाँव में 'नेल्सन रोहिल्हाला मंडेला' का 18 जुलाई, 1918 को जन्म हुआ था। उनके पिता ने उन्हें नाम दिया 'रोहिल्हाला' अर्थ पेड़ की डालियों को तोड़ने वाला या फिर प्यारा शैतान बच्चा। नेल्सन के पिता 'गेडला हेनरी' गाँव के प्रधान थे। उनका परिवार परम्परा से ही गाँव का प्रधान परिवार था। घर का कोई लड़का ही इस पद पर सुशोभित होता था। नेल्सन के परिवार का सम्बन्ध क्षेत्र के शाही परिवार से था। अठारहवीं शताब्दी में यह इस क्षेत्र का प्रमुख शासक परिवार रहा था, जब तक कि यूरोप ने इस क्षेत्र पर अधिकार नहीं कर लिया।


आज महान व्यक्तित्व नेल्सन मंडेला जी के 100वें जन्म दिवस पर हम सब उन्हें याद करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।






आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर  ... अभिनन्दन।।

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

नमन नेल्सन मंडेला को। सुन्दर प्रस्तुति।

smt. Ajit Gupta ने कहा…

आपके परिश्रम को नमन।

Anita ने कहा…

सुप्रभात ! पठनीय सूत्रों से सजा बुलेटिन..

Kavita Rawat ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति

शिवम् मिश्रा ने कहा…

नेल्सन मंडेला जी को सादर नमन ।

सदा ने कहा…

बेहतरीन लिंक्स एवम प्रस्तुति.... आभार

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार