Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 4 जुलाई 2018

स्वामी विवेकानंद जी की ११६ वीं पुण्यतिथि

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |


स्वामी विवेकानन्द (जन्म: १२ जनवरी,१८६३ - मृत्यु: ४ जुलाई,१९०२)
"हम ऐसी शिक्षा चाहते हैं जिससे चरित्र निर्माण हो। मानसिक शक्ति का विकास हो। ज्ञान का विस्तार हो और जिससे हम खुद के पैरों पर खड़े होने में सक्षम बन जाएं।"
- स्वामी विवेकानंद जी
स्वामी विवेकानंद जी को उनकी ११६ वीं पुण्यतिथि पर ब्लॉग बुलेटिन और हिन्दी ब्लॉग जगत की ओर से शत शत नमन ।
सादर आपका 
शिवम् मिश्रा
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ 

नभ पर बादल गरजते ,घटा घिरी घनघोर

मेरी आदतों में शुमार हो गया है, ये आँसू पीना

जो ज़िंदा हो तो फिर ज़िंदा नज़र आना ज़रूरी है

इस लम्हे के टूटकर बिखर जाने से पहले...

बादल तेरे आ जाने से ...

और कितना गिरोगे ?

सुनो सभासद

न यूं ही कहो हम हैं सही

वेदना का अंत बहुत सुखद होता है

छठवांवेद ---------mangopeople

अमर शहीद भाई भगवती चरण वोहरा जी की ११५ वीं जयंती

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...
जय हिन्द !!!

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

नमन विवेकानन्द जी को। सुन्दर प्रस्तुति।

Sadhana Vaid ने कहा…

सुन्दर सार्थक सूत्रों का संकलन आज का बुलेटिन ! मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार शिवम् जी !

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

Alaknanda Singh ने कहा…

धन्‍यवाद शिवम जी, मेरी ब्‍लॉगपोस्‍ट को अपने इस अद्भुत कलेक्‍शन में शामिल करने के लिए आपका आभार।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

anshumala ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन में मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार