Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

Featured Posts

शनिवार, 20 अप्रैल 2019

सूरदास जयंती और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार। 
Surdas.jpg
सूरदास (अंग्रेज़ी:Surdas) हिन्दी साहित्य में भक्तिकाल में कृष्ण भक्ति के भक्त कवियों में अग्रणी है। महाकवि सूरदास जी वात्सल्य रस के सम्राट माने जाते हैं। उन्होंने श्रृंगार और शान्त रसों का भी बड़ा मर्मस्पर्शी वर्णन किया है। उनका जन्म मथुरा-आगरा मार्ग पर स्थित रुनकता नामक गांव में हुआ था। कुछ लोगों का कहना है कि सूरदास जी का जन्म सीही नामक ग्राम में एक निर्धन सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था। बाद में वह आगरा और मथुरा के बीच गऊघाट पर आकर रहने लगे थे। आचार्य रामचन्द्र शुक्ल जी के मतानुसार सूरदास का जन्म संवत् 1540 विक्रमी के सन्निकट और मृत्यु संवत् 1620 विक्रमी के आसपास मानी जाती है।[1]सूरदास जी के पिता रामदास गायक थे। सूरदास जी के जन्मांध होने के विषय में भी मतभेद हैं। आगरा के समीप गऊघाट पर उनकी भेंट वल्लभाचार्य से हुई और वे उनके शिष्य बन गए। वल्लभाचार्य ने उनको पुष्टिमार्ग में दीक्षा दे कर कृष्णलीला के पद गाने का आदेश दिया। सूरदास जी अष्टछाप कवियों में एक थे। सूरदास जी की मृत्यु गोवर्धन के पास पारसौली ग्राम में 1563 ईस्वी में हुई।


~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~ 














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019

हनुमान जयंती की हार्दिक मंगलकामनाएँ - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज हनुमान जयंती है ... 


भूत पिशाच निकट नहीं आवे.
महावीर जब नाम सुनावे.
नासाये रोग हरे सब पीरा.
जपत निरंतर हनुमत वीरा!

 


ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सब को हनुमान जयंती की हार्दिक मंगलकामनाएँ !!

सादर आपका 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

याद आई एक कहानी भूली बिसरी

व्याकुल पथिक at व्याकुल पथिक

संजीव वर्मा 'सलिल' की रचनाएँ

राष्ट्र प्रेम

Rekha Joshi at Ocean of Bliss

श्रीनाथद्वारा, नंदनंदन जी का मंदिर

गगन शर्मा, कुछ अलग सा at कुछ अलग सा

लहरों से डरता हुआ तैराक ...


साध्वी प्रज्ञा पर काफ़ी सवालों के जवाब तो लिब्रल्स को भी देने हैं

देवांशु निगम at अगड़म बगड़म स्वाहा....

अमिया के टिकोरे सी तुम

Sadhana Vaid at Sudhinama

आज इंसान बड़ा परेशान है

Rahul Upadhyaya at उधेड़-बुन

आखिर ऐसा हुआ क्यों ?

ज्योति सिंह at काव्यांजलि

गिरगिट के रंगो से भरा नीरस चुनाव

राम त्यागी at मेरी आवाज

नेता और जन समस्या

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिए ... 

जय हिन्द !!! 

लेखागार