Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

शनिवार, 28 दिसंबर 2019

2019 का वार्षिक अवलोकन  (छब्बीसवां)



मीना भारद्वाज का ब्लॉग

Search Results

"दृष्टिकोण"

अक्सर पढ़ती हूँ तीज-त्यौहारों के संबन्धित विषयों
के बारे में..अच्छा लगता है भिन्न- भिन्न प्रान्तों के
रीति-रिवाजों के बारे में जानना । इन्द्रधनुषी सांस्कृतिक विरासत है हमारी ..संस्कृति  की यही तो खूबी है कि
 वह पीढ़ी दर पीढ़ी चलती है । निरन्तरता में नव-पुरातन
घुल-मिल जाता है मिश्री और पानी की तरह मगर
 उसका मूल नष्ट नही होता । इसी संस्कृति से हमारे
 आचार विचार पोषित होते हैं । मगर मन खट्टा हो
जाता है जब इस तरह के क्रिया - कलापों  की
 आलोचनाएँ पढ़ती हूँ  ।   नारी का साज-श्रृंगार
 उसकी सुन्दरता के साथ साथ उसकी सम्पन्नता का
 प्रतीक है । यही नहीं प्राचीनकाल का इतिहास यदि
चित्रों के माध्यम से समझने और देखने का प्रयास
करें तो पुरूष वर्ग भी महिला वर्ग के समान आभूषणों
 से सजा दिखाई देता है ।
  बाहरी आक्रमणकारियों के आने के बाद 'सोने की चिड़िया' हमारे देश की स्वर्णिम व्यवस्था चरमराई और
 फिर रही सही कमी ब्रिटिशसरस् ने पूरी कर दी ।
आधुनिकता के नाम पर पायल , कंगन और अन्य वस्त्राभूषण को गुलामी या परतंत्रता का प्रतीक मानना ,
 व्रत- पूजा पाठ को दकियानूसी विचार मानना  मुझे तो किसी भी नजरिए से तर्क संगत नजर नहीं आता । केवल विरोध करना है तो करना है यह एक अलग पहलू है ।
आज की अधिकांश महिलाएं शिक्षित और परिपक्व सोच रखती हैं यह उनके स्वविवेक पर निर्भर करता है कि
उन्हें क्या करना है ।
व्रत , उपासना , पूजा-अर्चना करना या ना करना उनकी व्यक्तिगत भावना और आध्यात्म से जुड़ाव की भावना है । रीति-रिवाजों के लिए जबरन विचार थोपे जाएँ तो यह अवश्य गलत होगा और इस तरह की बातों का विरोध भी पुरजोर होना चाहिए मगर स्वेच्छा से किये गए सांस्कृतिक और आध्यात्मिक कार्यों की आलोचना अनुचित है ।  हमारे विचार किसी दूसरे के विचारों से मेल खायें या नहीं  खायें
 यह अलग विषय है लेकिन हमें दूसरों के विचारों का सम्मान अवश्य करना चाहिए ।

★★★★★


18 टिप्पणियाँ:

कविता रावत ने कहा…

बहुत अच्छी वार्षिक अवलोकन प्रस्तुति

Meena Bhardwaj ने कहा…

अपने ब्लॉग के लेख "दृष्टिकोण" को "ब्लॉग बुलेटिन" के वार्षिक अवलोकन मेंं सम्मानित पा कर हृदयतल से अभिभूत हूँ । हार्दिक आभार आदरणीया रश्मि प्रभा जी 🙏🙏.

Meena Bhardwaj ने कहा…

हार्दिक आभार कविता जी ।

Kamini Sinha ने कहा…

सबसे पहले तो आप को हृदयतल से बधाई मीना जी ,आपका लेख " दृष्टिकोण " सचमुच एक मंथन ही था रीति -रिवाज ,धर्म और परम्पराओं का मंथन। ब्लॉग बुलेटिन में आपके इस लेख को दोबारा पढ़ना बड़ा ही सुखद रहा ,ढेरों शुभकामनाएं आपको

अनीता सैनी ने कहा…

हार्दिक बधाई आदरणीया मीना दीदी जी. ब्लॉग बुलेटिन जैसे प्रतिष्ठित पटल पर आपके ब्लॉग 'मंथन' को देखकर बहुत ख़ुशी हुई. आपका सृजन मुझे बहुत प्रभावित करता है. आपका लेखन दिनोंदिन निखरता रहे. ढेर सारी शुभकामनाएँ आपको
सादर सस्नेह

Meena Bhardwaj ने कहा…

उत्साहवर्धित करती अनमोल प्रतिक्रिया के हृदयतल से आभार कामिनी जी ।

Sudha Devrani ने कहा…

हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं मीना जी ! ब्लॉग बुलेटिन पर आपकी रचना देखकर अत्यंत खुशी हुई।
आपके दृष्टिकोण से मैं पूर्णतः सहमत हूँ....
आधुनिकता के नाम पर पायल , कंगन और अन्य वस्त्राभूषण को गुलामी या परतंत्रता का प्रतीक मानना ,
व्रत- पूजा पाठ को दकियानूसी विचार मानना मुझे तो किसी भी नजरिए से तर्क संगत नजर नहीं आता । केवल विरोध करना है तो करना है यह एक अलग पहलू है ।
एकदम सटीक कथन।

Meena Bhardwaj ने कहा…

उत्साहवर्धन हेतु हार्दिक आभार अनीता जी ।

Meena Bhardwaj ने कहा…

हृदयतल से असीम आभार सुधा जी ।

रेणु ने कहा…

प्रिय मीना जी , आपके सारगर्भित लेख के साथ आज की प्रस्तुति बहुत सार्थक है | आपको हार्दिक बधाई और शुभकामनायें | दृष्टिकोण में आपके दृष्टिकोण का स्वागत है | आपकी तरह मैं भी मानती हूँ कि अपनी परम्पराओं को त्याग पाश्चात्यीकरण का समर्थन करना आधुनिकता नहीं | हमारी परम्पराएँ हमारे संस्कारों की पहचान हैं , हाँ जहाँ अंधविश्वास और कुरीतियों का जमावड़ा हो वहां विरोध बनता है | आपकी प्रतिभा को सम्मान मिला , जिसके आप बखूबी योग्य हैं | पुनः बधाई |

रेणु ने कहा…

सार्थक प्रस्तुती के लिए हार्दिक आभार ब्लॉग बुलेटिन |

Meena Bhardwaj ने कहा…

हार्दिक आभार प्रिय रेणु जी आपके मान भरे स्नेह वचनों हेतु ..

संजय भास्‍कर ने कहा…

मीना जी प्रभावित करता लेख है ब्लॉग बुलेटिन पर आपकी रचना देखकर खुशी हुई :))

Meena Bhardwaj ने कहा…

उत्साहवर्धन के लिए हृदय से आभार संजय जी ।

Help in hindi ने कहा…

Thank for information
aryahindi

All Hindi news ने कहा…

Top 251 Best Moral Stories in Hindi 2021 नैतिक कहानियाँ हिंदी में

https://thatsmystory-book.com/top-251-best-moral-stories-in-hindi-2021/

Emily Katie ने कहा…

Birthday Gifts to India
Order Birthday Gifts Online

Shivam mishra ने कहा…

Nice Post :-👉 Insta Bio For Girls Attitude

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार