Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 2 नवंबर 2018

सोहराब मोदी और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार। 
सोहराब मोदी
सोहराब मोदी (अंग्रेज़ी: Sohrab Modi, जन्म: 2 नवम्बर, 1897; मृत्यु: 28 जनवरी, 1984) प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता और फ़िल्म निर्माता-निर्देशक थे, जिन्होंने हिन्दी की प्रथम रंगीन फ़िल्म 'झाँसी की रानी' बनाई थी। इनको सन 1980 में 'दादा साहब फाल्के पुरस्कार' से सम्मानित किया गया था।

सोहराब मोदी का जन्म 2 नवम्बर, 1897 में बम्बई में हुआ था। सोहराब मोदी अपनी स्कूली शिक्षा खत्म करने के बाद वह अपने भाई केकी मोदी के साथ यात्रा प्रदर्शक का कार्य किया। सोहराब मोदी ने कुछ मूक फ़िल्मों के अनुभव के साथ एक पारसी रंगमंच से बतौर अभिनेता के रूप में शुरुआत की थी। सोहराब मोदी का बचपन रामपुर में बीता, जहां उनके पिता नवाब के यहां अधीक्षक थे। नवाब रामपुर का पुस्तकालय बहुत समृद्ध था। रामपुर में ही सोहराब मोदी ने फर्राटेदार उर्दू सीखी। अभिनय की प्रारंभिक शिक्षा उन्हें अपने भाई रुस्तम की नाटक कंपनी सुबोध थिएट्रिकल कंपनी से मिली, जिसमें उन्होंने 1924 से काम करना शुरू कर दिया था। वहीं उन्होंने संवाद को गंभीर और सधी आवाज में बोलने की कला सीखी, जो बाद में उनकी विशेषता बन गयी। कुछ ही समय में वे नाटकों में उन्होंने प्रमुख भूमिका निभाने लगे। ‘हैमलेट’ और ‘द सोल ऑफ़ डाटर’ उनके लोकप्रिय नाटक थे जिनमें उन्होंने अभिनय किया। बाद में उनका परिवार रामपुर से बंबई चला आया। वहां उन्होंने परेल के न्यू हाईस्कूल से मैट्रिक पास किया। जब ये अपने प्रिंसिपल से यह पूछने गये कि भविष्य में क्या करें, तो उनके प्रिंसिपल ने कहा,-‘तुम्हारी आवाज सुन कर तो यही लगता है कि तुम्हे या तो नेता बनना चाहिए या अभिनेता।’ और सोहराब अभिनेता बन गये। उनकी आवाज की तरह बुलंद थी। अंधे तक उनकी फ़िल्मों के संवाद सुनने जाते थे।


आज सोहराब मोदी जी के 121वें जन्म दिवस पर हम सब उन्हें शत शत नमन करते हैं। सादर।।

~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~
















आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए नमस्कार। जय हिन्द। जय भारत।।

8 टिप्पणियाँ:

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

बुलंद आवाज़ के धनी शानदार अभिनेता सोहराब मोदी को सादर नमन. प्रभावशाली रचना कौशल. सभी चयनित रचनाकारों को बधाई एवम् शुभकामनाएं.
मेरी रचना को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने के लिये आभार हर्षवर्धन जी.

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति। सोहराब मोदी जी को उनके जन्मदिन पर नमन। आभार हर्षवर्धन 'उलूक' के गणेश और चूहे को जगह देने के लिये।

Kusum Kothari ने कहा…

शानदार प्रस्तुति, विविधता का समायोजन लिये उत्कृष्ट अंक।
सभी रचनाकारों को बधाई ।

Editorial Staff ने कहा…

जी हमारी पोस्ट छठ पूजा क्या है आपके बुलेटिन पर share करने के लिये धन्यवाद

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

बचपन में अपने बाबूजी के साथ मोदी जी की कुछ फ़िल्में देखने के मौका मिला था। तब इतनी समझ कहाँ होती थी। होश संभालने पर टी. वी. पर पुकार और सिकंदर देखीं । क्या गजब की आवाज थी जो भुलाए नहीं भूलती

शिवम् मिश्रा ने कहा…

सोहराब मोदी जी को उनके जन्मदिन पर नमन।

Meena Sharma ने कहा…

बेहतरीन संकलन। ब्लॉग बुलेटिन की प्रस्तुति रोचक व विशिष्ट होती है।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार