Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

ब्लॉग बुलेटिन - ब्लॉग रत्न सम्मान प्रतियोगिता 2019

मंगलवार, 13 नवंबर 2018

तुम्हारा वजूद एक ब्रह्मास्त्र है




लगे,
कि किसी ने वजूद छीन लिया
लगे,
कि हँसी कहीं खो गई है 
तो उनलोगों को याद करना 
जिनकी हर सांस में दुआओं के बोल थे
जिन्होंने हर बार कहा,
तुम्हारा वजूद एक ब्रह्मास्त्र है
जिसे कोई भी नहीं छीन सकता
....
और फिर
उनके आशीर्वचनों की सार्थकता के लिए जीना
खुश रहना,

अपना वजूद फिर से स्थापित करना। 

 रश्मि प्रभा 


3 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

प्र्तिभा जी ने मना किया था फिर भी आप ले आयी :) हमें तो कोई एतराज नहीं है क्योंकि अपना कूड़ा कोई उठा ले जाये तो भी अच्छा लगता है। आभार 'उलूक' का। प्रतिभा जी से हम भी माँफी माँग लेते हैं आपकी तरफ से भी। सुंन्दर बुलेटिन प्रस्तुति।

Anita ने कहा…

हमारा वजूद..कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी..अनंत काल से हम हैं और अनंत काल तक रहेंगे..ऐसा ही लगता है जब उन ऋषियों की वाणी को पढ़ते सुनते हैं...सुंदर सूत्रों से सजा बुलेटिन..अभी पढ़ना शेष है, आभार !

Dr (Miss) Sharad Singh ने कहा…

मेरी पोस्ट को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने के लिए हार्दिक धन्यवाद रश्मि प्रभा जी !!!

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार