Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 3 अगस्त 2018

चैन पाने का तरीका - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

अगर आप कभी थके-हारे या परेशान हों और आराम करना चाहते हो और चाहते हैं कि मोबाइल पर भी आपको कोई फोन करके परेशान ना करे तो इसका 100% कामयाब और अचूक उपाय ये है कि सभी यार दोस्तों को व्हाट्सएप्प पर एक मैेसेज भेज दो।

"भाई मुझे 50,000/- ₹ की जरूरत है।"

कसम से मित्रों , पूरे दिन एक कॉल भी नहीं आयेगा और तो और जिसको लगाओगे वो भी नहीं उठायेगा।

फिर जब आराम कर लो तो बाद में एक मैेसेज ये वाला भेज दो कि...

"किसी ने 1,00,000/- ₹ का इंतजाम कर दिया है, इसलिए अब तुम परेशान मत होना। अगर कुछ जरूरत हो तो बता देना।"

और फिर देखो कितने फोन आते हैं।

चाहे तो आज़मा कर देख लें |
सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

नया शिक्षा सत्र : सतर्कता एवं सुरक्षा !

'' बैजनाथ मंदिर ''--(काँगड़ा )

मन का मौसम !!!!

हाँ मैं लिखता हूँ...

दो गीत-कच्चे घर में हम और अज़नबी की तरह

देश देख रहा है

रहे बरकत बुजुर्गों से घर की

मैनपुरी: 150 शिक्षकों का रोका वेतन, पांच-पांच नामांकन भी न करा पाए, 14 हेड मास्टर भी चपेट में

हरिजन एक्ट के बहाने मन की भड़ास..

राष्ट्रकवि पर हाली तथा टैगोर का प्रभाव

एक एनआरसी ने बर्र का डंक मार दिया तो देशभर में क्या हाल होगा

जब आप पक्षकार बन जाते हैं तब पत्रकार नहीं रह जाते , कुत्तागिरी कर रहे होते हैं

द्विजा..

फेसबुक में पुस्तक चर्चा -2

रोटियाँ हैं खाने और खिलाने की नहीं हैं कुछ रोटियाँ बस खेलने खिलाने के लिये हैं

सपने

सपनों का संसार अनूठा

भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के अभिकल्पक - पिंगली वैंकैया

अंग्रेज़ी में कहते हैं

कविता : डरपोक का डर

मोहन की हर अदा निराली

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!  

10 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

19, 20, 21 बहुत सारे सूत्रों के साथ पेश आज की खूबसूरत बुलेटिन। आभार शिवम जी 'उलूक' की रोटियों को भी जगह देने के लिये।

Meena Sharma ने कहा…

सुंदर बुलेटिन, आपकी प्रस्तुति बहुत मजेदार है।

Anita ने कहा…

हा हा ! अचूक उपाय सुझाया है आपने..पठनीय सूत्रों से सजा बुलेटिन..आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

सच चैन पाने का अचूक उपाय बताया है आपने, कमबख्त पैसा चीज ही ऐसी है .........
बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

sadhana vaid ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन सार्थक सूत्र ! मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका हृदय से धन्यवाद एवं आभार शिवम् जी !

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

@चैन....एक दिन; मुझे तो लगता है कि फिर कभी भी कॉल नहीं आएगा :-)

jafar ने कहा…

आभार sir

सदा ने कहा…

वाह बहुत ही बढ़िया लिंक संयोजन एवम प्रस्तुति

Rajputana status ने कहा…

आप अपने ब्लॉग की डिज़ाइन और स्पीड ऑप्टिमाइज के लिए सम्पर्क कर सकते हे.pushpendrask555@gmail.com

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार