Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 10 अगस्त 2018

एमएलए साहब का राजनैतिक प्यार

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

एक एमएलए साहब की दोस्ती एक फिल्म अभिनेत्री से हो गई। कुछ महीनों के बाद साहब जी को लगने लगा कि उन्हें अभिनेत्री से प्यार हो गया है। उन्होंने मन ही मन तय किया कि वे उससे शादी करेंगे। पर चूंकि लड़की फिल्मों में काम करती थी और उसका मिलना-जुलना काफी लोगों से था, अतः साहब ने सोचा कि शादी का प्रस्ताव रखने के पहले उसके चरित्र, परिवार आदि के बारे में जानकारी ले लेना बेहतर होगा।

उन्होंने अपने सेक्रेटरी से लड़की के पीछे एक प्राइवेट जासूस लगाने को कहा, साथ ही हिदायत दी कि जासूस को यह पता नहीं चलना चाहिए कि वह यह काम मेरे लिए कर रहा है।

लगभग दो महीनों की छानबीन के बाद जासूस की रिपोर्ट सेक्रेटरी के माध्यम से
एमएलए साहब को मिली, जो कुछ इस तरह से थी:

लड़की का चरित्र एकदम बेदाग़ है। आजतक उसका किसी के साथ कोई अफेयर नहीं रहा है। लड़की का परिवार, उसके रिश्तेदार और दोस्त सभी बड़े ही भले एवं संभ्रात लोग हैं, परन्तु हाँ ऐसी जानकारी मिली है कि पिछले कुछ महीनों से यह लड़की अक्सर एक निहायत ही चरित्रहीन एवं घटिया किस्म के नेता के साथ देखी जा रही है।

सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

बंजारे हम बंजार

श्री की जगह शहीद लिखती हूं.......

तिरंगे की आह

कपालभाति के फायदे

अधरों पर मुस्कान

शहीदों को नमन

तुलसी शालिग्राम संयोग .....एक प्रश्नचिन्ह

बिछड़न

कोई बात नहीं

जनता का गीत

काकोरी काण्ड की ९३ वीं वर्षगांठ

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ... 

जय हिन्द !!! 

8 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन।

उषा किरण ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन !

Shalini Kaushik ने कहा…

बहुत शानदार प्रस्तुति, बधाई

yashoda Agrawal ने कहा…

बेहतरीन बुलेटिन
सादर

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

सुंदर संकलन, शुभकामनाएं

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार।

sadhana vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर लिंक्स से सजा बुलेटिन ! मेरी रचना को सम्मिलित करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार शिवम् जी !

Vrajraj Gaushala ने कहा…

सुंदर संकलन, शुभकामनाएं

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार