Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

शनिवार, 25 अगस्त 2018

अकेले हम - अकेले तुम

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

कभी रोता हूँ, वो किसी को दिखाई नहीं देता;
कभी चिंतित रहता हूँ, कोई परवाह नही करता;
कभी मायूस होता हूँ, कोई पूछने तक नही आता;
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.

पर जब कभी चाट की दुकान पर अकेला जाता हूँ; कोई ना कोई पीछे से आ ही जाता है और पूछ लेता है -

 "क्या  शिवम् भाई अकेले-अकेले !!??"

सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

अमित उपमन्यु की ताज़ा कविता

निराशा की राजनीति कब तक ( आलेख ) डॉ लोक सेतिया

दो निर्णय ..(भाग २)

भूख ने रुप बदल लिया

चौधरी साहब तारीफों के अफसरिया लालन-पालन को भूल तीखी आलोचनाओं की तैयारी से यहां आइए

बेटियाँ राष्ट्र संस्कृति की शिक्षिका हैं ....

३२२.दूरी

सोशल मीडिया में होने वाला है ऐतिहासिक सामाजिक युद्ध और राजनैतिक जोंबी

दूनं शरणं गच्छामि

सही कहा गया है ... भगवान केवल भक्तं भाव के भूखे होते हैं !!

पिया तुमसे भला तो ये जमाना है ------ mangopeople

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
 अब आज्ञा दीजिए ...

जय हिन्द !!! 

7 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

अब चाँट की दुकान है कुछ खाने को मिलता है। ब्लाँग बुलेटिन में छपी ब्लाग की खबर जो क्या है जो चाट लेती है :) आज का बुलेटिन बढ़िया बना है खासकर सूत्र
'सोशल मीडिया में होने वाला है ऐतिहासिक सामाजिक युद्ध और राजनैतिक जोंबी'एक बहुत सटीक विश्लेषण है।

Onkar ने कहा…

सुन्दर लिंक्स.मेरी कविता शामिल करने के लिए आभार.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

संध्या आर्य ने कहा…

तहे दिल से शुक्रिया और आभार आपका !

anshumala ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन में मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद | वैसे चाट के दूकान में अकेले जाने से पाप भी लगता है :)

Unknown ने कहा…

download comprehensive guide to ibps download free

Unknown ने कहा…

download ncert book of history download

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार