Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

रविवार, 14 अप्रैल 2019

राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को नमस्कार।
अग्निशमन दिवस अथवा राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस (अंग्रेज़ी: National Fire Service Day) प्रत्येक वर्ष 14 अप्रैल को मनाया जाता है। 14 अप्रैल, 1944 को मुम्बई बंदरगाह में फोर्टस्टीकेन नामक मालवाहक जहाज जिसमें रूई की गांठें, विस्फोटक एवं युद्ध उपकरण भरे हुए थे, में अकस्मात आग लग गयी थी। आग को बुझाते समय जहाज में विस्फोटक सामग्री होने के कारण 66 अग्निशमन कर्मी आग की चपेट में आकर वीरगति को प्राप्त हुए थे। इन शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने व अग्नि से बचाव के उपाय बताने के लिए देशभर में यह दिवस मनाया जाता है।


~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~











आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

4 टिप्पणियाँ:

विभा रानी श्रीवास्तव 'दंतमुक्ता' ने कहा…

हार्दिक आभार आपका

विष्णु बैरागी ने कहा…

सबसे पहले तो इस बात के लिए आभार और धन्‍यवाद कि आप मुझ पर नजर भी रखते हैं और मेरी पोस्‍टों को अपने बुलेटिन में शामिल कर मेरा मान भी बढाते हैं और मेरी बातों को प्रसारित करने का उपकार भी करते हैं। क़पा है आपकी। क़तज्ञ हूँ।

आजकल मैं न तो नियमित लिख पा रहा हूँ न ही नियमित रूप से ब्‍लॉग बुलेटिन देख पाता हूँ। किन्‍तु जब-जब भी ब्‍लॉग बुलेटिन देखा तब-तब हर बार आपके परिश्रम, निष्‍ठा-भाव और समर्पण-भाव का कायल हुआ। आप सचमुच में 'निष्‍काम भाव' से यह काम किए जा रहे हैं। प्रशंसा और सराहना के लिए मुझे यथेष्‍ठ शब्‍द नहीं मिल पा रहे।

आपको सलाम।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
शिवम् मिश्रा ने कहा…

राष्ट्रीय अग्निशमन सेवा दिवस पर सभी अग्निशमन कर्मीयों को मेरा सादर नमन |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार