Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

मंगलवार, 2 अप्रैल 2019

२ अप्रैल को राकेश शर्मा ने छुआ था अंतरिक्ष - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज २ अप्रैल है ... आज ही के ऐतिहासिक दिन सन १९८४ में भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा ने सोवियत अंतरिक्ष यान में सवार हो पृथ्वी का चक्कर लगाया था|


आइये जानते हैं राकेश शर्मा जी के बारे में ... 

राकेश शर्मा (अंग्रेज़ी:Rakesh Sharma, जन्म:13 जनवरी, 1949 पटियाला, पंजाब) भारत के प्रथम अंतरिक्ष यात्री हैं। उन्हें अंतरिक्ष यान में उड़ने और पृथ्वी का चक्कर लगाने का अवसर 2 अप्रैल, 1984 में मिला था। वे विश्व के 138वें अंतरिक्ष यात्री हैं। स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा ने लो ऑर्बिट में स्थित सोवियत स्पेस स्टेशन की उड़ान भरी थी और सात दिन स्पेस स्टेशन पर बिताए थे। भारत और सोवियत संघ की मित्रता के गवाह इस संयुक्त अंतरिक्ष मिशन के दौरान राकेश शर्मा ने भारत और हिमालय क्षेत्र की फ़ोटोग्राफी भी की। 


भारतवासियों के लिए वो गर्व का क्षण था जब राकेश शर्मा के अन्तरिक्ष मे रहते हुये एक सीधे प्रसारण के दौरान प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पूछने पर कि अंतरिक्ष से भारत कैसा लगता है, तब उन्होने ने कहा- 'सारे जहाँ से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा'। 


 
ब्लॉग बुलेटिन टीम और हिन्दी ब्लॉग जगत की ओर से आज के इस ऐतिहासिक दिन हम सब राकेश शर्मा जी को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित करते हैं |
 
सादर आपका
शिवम् मिश्रा

~~~~~~~~~~~~~~~

छोटी सी दो रचनाये

“पुष्प” (तांका)

निधिवन

दौर चुनावी युद्धों का

लघुकथा : दूसरा अवसर

मापदंड

फलसफा प्रजातंत्र का

ग़ज़ल

क्या है कविता

औरत ना होती तो

खिलते फूलों वाले शहर

 ~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिए ... 

जय हिन्द !!!

10 टिप्पणियाँ:

Meena Bhardwaj ने कहा…

भारत के प्रथम अन्तरिक्ष यात्री राकेश शर्मा जी को शुभकामना संदेश के साथ सुन्दर लिंक्स संकलन । आपके ब्लॉग के माध्यम से मैं भी उन्हे शुभकामनाएं प्रेषित करती हूँ । इस संकलन में मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए सादर आभार ।

Sadhana Vaid ने कहा…

देश के लिए वह क्षण सचमुच अभूतपूर्व था ! गौरव का क्षण, बुलंद आत्म सम्मान का क्षण, सफलता और जीत का क्षण और आला दर्जे के वैज्ञानिकों की विश्व बिरादरी में अपना नाम दर्ज कराने का क्षण ! हार्दिक अभिनन्दन ! आज के सभी सूत्र सुन्दर ! मेरी रचना को आज के बुलेटिन में स्थान देने के लिए आपका हृदय से बहुत बहुत धन्यवाद एवं आभार शिवम् जी !

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति।

ज्योति सिंह ने कहा…

शानदार संग्रह ,आपकी दिल से आभारी हूँ मैं ,बेहतरीन रचनायें

अनीता सैनी ने कहा…

बेहतरीन प्रस्तुति
सादर

Asha Lata Saxena ने कहा…

उम्दा संग्रह |मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद |

Anuradha chauhan ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति

Virendra Singh ने कहा…

सुंदर और सार्थक बुलेटिन। प्रस्तुतकर्ता को बधाई। सभी रचनाकारों को भी बधाई। सादर।

विभा रानी श्रीवास्तव ने कहा…

हार्दिक आभार आपका
संग्रहनीय संकलन

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार