Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

मंगलवार, 30 अप्रैल 2019

राष्ट्रीय बीमारी का राष्ट्रीय उपचार - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

भारत का राष्ट्रीय पक्षी: मोर

भारत का राष्ट्रीय प्राणी: बाघ

भारत की राष्ट्रीय बीमारी: अंदर से अच्छा नहीं लग रहा...

और ...

भारत का राष्ट्रीय उपचार: थोड़ी देर सो लो फिर अच्छा लगेगा!

😉

सादर आपका
शिवम् मिश्रा
~~~~~~~~~~~~~~~

" भाग्य विधाता "- कौन ??

अपने पुराने ठूठों को नहीं हटा पाई कांग्रेस तो आज उल्लू बैठेंगे ही

लातों के भूत।

बनना नेता था, बन लेखक गया

अथ रसगुल्ला कथा

दादासाहब फालके की १४९ वीं जयंती

आज श्रमिक दिवस है..

“भाग दौड़" भरी ज़िन्दगी ६: हाफ मैरेथॉन का नशा!

क्या वैदिक गणित विद्यालयों में पढाया जाना चाहिए ?

घृणा

फिर चल दिये हम कहाँ, तुम कहाँ...

वो अब मुस्कुराने लगी

सभी को कुछ तलाश है

रफूगिरी

वफ़ा सब्र तमन्ना एहसास❤

~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिए ... 

जय हिन्द !!!

11 टिप्पणियाँ:

व्याकुल पथिक ने कहा…

हृदय से आभार आपका पथिक की रचना को स्थान देने के लिये।
प्रणाम, धन्यवाद।

Anita saini ने कहा…

बहुत सुन्दर ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति 👌
मेरी रचना को स्थान दिया बहुत अच्छा लगा |तहे दिल से आभार आप का आदरणीय |
सादर

Meena sharma ने कहा…


भारत का राष्ट्रीय उपचार: थोड़ी देर सो लो फिर अच्छा लगेगा.... अच्छा लगा। अच्छे लिंक्स हैं।

पी.सी.गोदियाल "परचेत" ने कहा…

आभार। आपको अंतरराष्ट्रीय शादीशुदा पुरुष दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

Sweta sinha ने कहा…

एकदम सटीक आकवन बीमारी का और उपचार भी..👌
बहुत अच्छी रचनाएँ है सारी।

महेन्‍द्र वर्मा ने कहा…

सार्थक चर्चा ।
आभार आपका ।

मन की वीणा ने कहा…

मेरी रचना को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने के लिए हृदय तल से आभार शिवम जी ।
सभी सामग्री नही देख पाई समय मिलते ही प्रस्तुत होऊंगी। सादर।
सभी रचनाकारों को बधाई।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Kamini Sinha ने कहा…

बहुत उन्दा संकलन ,मेरे लेख को स्थान देने के लिए दिल से धन्यवाद ,सादर नमस्कार

Sadhana Vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर सार्थक सूत्र ! मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका हृदय से धन्यवाद एवं आभार शिवम् जी!

अरुण चन्द्र रॉय ने कहा…

सुन्दर संयोजन

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार