Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 5 अक्तूबर 2018

'स्टेंड बाई' मोड और रिश्ते - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

कुछ चीजों को ज्यादा देर 'स्टेंड बाई' मोड पर छोड देने से वो खुद ही 'आफ' हो जाती हैं . . .

'रिश्ते' उनमें सबसे पहले आते हैं!

सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

कट रहा जिंदगी का सफर अनजान लम्हों में

बाँसुरी हो गई

पृथ्वी शॉ के पहले चौदह भारतीय खिलाड़ी ऐसा कर चुके हैं

झारखंड में गांधी

“सीख” (रोला छंद)

बचा रहे बनारस...

भूख

श्री कृष्ण के घर सुदामा

हौंसले को सलाम (माउंटेन मैन - दशरथ मांझी)

गरम गोश्त

समर में हम

 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

9 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सही बात। सुन्दर प्रस्तुति।

Rohitas ghorela ने कहा…

सारे लिंक्स चुनिदा है इस बुलेटिन के.
आभार

Meena Bhardwaj ने कहा…

बहुत ही सुन्दर दिल को छूने वाली बात के साथ बेहतरीन लिंक्स का संयोजन । मेरी पोस्ट को बुलेटिन में स्थान देने के लिए सादर आभार !

anuradha chauhan ने कहा…

सुप्रभात
बहुत सुंदर बुलेटिन प्रस्तुति सुंदर रचनाओं का संग्रह
बहुत बहुत आभार आपका मेरी रचना को बुलेटिन का हिस्सा बनाने के लिए

Abhilasha ने कहा…

शुभ प्रभात
बहुत ही सुंदर संकलन, बेहतरीन रचनाओं का सुंदर
संयोजन किया है आपने पढकर आनंद आया।
मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका सादर आभार 🙏

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

mahendra verma ने कहा…

आभार आपका.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

shyam kori 'uday' ने कहा…

शानदार ... 👍

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार