Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

सोमवार, 22 अक्तूबर 2018

145वीं जयंती - स्वामी रामतीर्थ और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार।
स्वामी रामतीर्थ
स्वामी रामतीर्थ (अंग्रेज़ी: Swami Rama Tirtha, जन्म: 22 अक्टूबर, 1873 - मृत्यु: 17 अक्टूबर, 1906[1]) एक हिन्दू धार्मिक नेता थे, जो अत्यधिक व्यक्तिगत और काव्यात्मक ढंग के व्यावहारिक वेदांत को पढ़ाने के लिए विख्यात थे। रामतीर्थ वेदांत की जीती जागती मूर्ति थे। उनका मूल नाम 'तीरथ राम' था। वह मनुष्य के दैवी स्वरूप के वर्णन के लिए सामान्य अनुभवों का प्रयोग करते थे। रामतीर्थ के लिए हर प्रत्यक्ष वस्तु ईश्वर का प्रतिबिंब थी। अपने छोटे से जीवनकाल में उन्होंने एक महान् समाज सुधारक, एक ओजस्वी वक्ता, एक श्रेष्ठ लेखक, एक तेजोमय संन्यासी और एक उच्च राष्ट्रवादी का दर्जा पाया। स्वामी रामतीर्थ जिसने अपने असाधारण कार्यों से पूरे विश्व में अपने नाम का डंका बजाया। मात्र 32 वर्ष की आयु में उन्होंने अपने प्राण त्यागे, लेकिन इस अल्पायु में उनके खाते में जुड़ी अनेक असाधारण उपलब्धियां यह साबित करती हैं कि अनुकरणीय जीवन जीने के लिए लम्बी आयु नहीं, ऊँची इच्छाशक्ति की आवश्यकता होती है।

आज स्वामी रामतीर्थ जी की 145वीं जयंती पर हम सब उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। सादर।।

~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।। 

7 टिप्पणियाँ:

दिनेश प्रजापति ने कहा…

सभी लिंक लाजवाब थे, मेरी पोस्ट को स्थान देने के लिए धन्यवाद!

दिगम्बर नासवा ने कहा…

स्वामी जी को नमन ...
आज के बुलेटिन के सभी लिंक्स लाजवाब हैं ...
आभार मुझे भी आज शामिल करने के लिए ...

Abhilasha ने कहा…

स्वामी जी को नमन बहुत ही सुन्दर संकलन सभी चयनित रचनाकारों को बधाई

कविता रावत ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर बुलेटीन। आभार हर्षवर्धन 'उलूक' की बकवास को जगह देने के लिये।

रश्मि शर्मा ने कहा…

सभी लिंक्स अच्छे लगे। मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार।

Unknown ने कहा…

Please Click Here

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार