Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

सोमवार, 29 अक्तूबर 2018

मार्कीट में नया - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

एक बार एक बच्चे के जन्म पे उसके सारे रिश्तेदार अस्पताल में थे। तभी नर्स बाहर आई और बोली, "माँ बच्चा दोनों ठीक है।" फिर नर्स ने बच्चा उसके पिता को दिया।

बच्चे के पिता ने अपनी बहन को दिया।

बहन ने अपने पति को दिया।

उसने नानी को दिया।

नानी ने नाना को दिया।

नाना ने बच्चे को चाचा को दिया।

चाचा ने चाची को दिया।

चाची ने बच्चे को दादी को दिया और दादी ने दादा को दिया।

तभी बच्चे ने घबराकर पूछा, "दादा जी ये आप लोग क्या कर रहे हो?"

दादा जी बोले, "बेटा ये सब Whatsapp रोग से ग्रस्त हैं, तू मार्कीट में नया है ना, इसलिये तुझे "Forward" कर रहे हैं।


सादर आपका
शिवम् मिश्रा 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

मन मेरा तुमको चाहता है

कहानी

कभी तो समझोगे......!!!

क्यों हमारे गीत गाए ... क्या हुआ ...

चेला ने गुरूजी के सर पर रॉड मार दिया

वार्निंग

हममें हमको बस...'तुम' दे दो

करवा चौथ

व्याकुल मन कि पुकार.........

श्रद्धा का एक दीप जलने दो - डॉ शरद सिंह

काश सारे डॉ रामेश्वर की तरह हो जाएं...खुशदीप

वर्षा का गीत - डॉ. वर्षा सिंह

माजुली का सौन्दर्य

कहीं गंगा किनारे बैठ कर , रसखान सा लिखना -सतीश सक्सेना

468.बिगड़ता अंदाज

 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिए ... 

जय हिन्द !!!

16 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर। अभी तो बच्चे को व्हाट्स अप मैसेज देकर बाहर आना रह गया है। रिश्तेदार टंकण में गलत छप गया है ठीक कर लें।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

@ जोशी सर,
भूल सुधार दी गई है ... आपका बहुत बहुत आभार |

Sweta sinha ने कहा…

व्यंगात्मक शिक्षाप्रद समसामयिक पारिवारिक परिदृश्य पर सटीक भूमिका के साथ बहुत अच्छी रचनाएँ पढ़ने को मिली।
आदरणीय, मेरी रचना को बुलेटिन में स्थान देने के लिए हृदय से आभारी हूँ।

yashoda Agrawal ने कहा…

बेहतरीन बुलेटिन..
आभार...
सादर...

अनीता सैनी ने कहा…

बहुत ही सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति
आदरणीय, मेरी रचना को बुलेटिन में स्थान देने के लिए हृदय से
आभार
सादर

दिगंबर नासवा ने कहा…

मेसेज अब तो आ जाएगा ... दिलचस्प बुलेटिन ...
आभार मुझे शामिल करने के लिए आज ...

Dr Varsha Singh ने कहा…

मेरी पोस्ट शामिल करने हेतु हार्दिक आभार !

Roli Abhilasha ने कहा…

बहुत सुंदर संकलन...व्हाट्स एप मेसेज तो बिल्कुल सटीक है...मुझे स्थान देने के लिए अति आभार!

Anita ने कहा…

वाह ! रोचक भूमिका और सुंदर सूत्रों का संयोजन..आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

सच बहुत बड़ा रोग है Whatsapp का
बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

Anuradha chauhan ने कहा…

वाह व्हाट्स मेसेज बहुत सुंदर बुलेटिन प्रस्तुति शानदार रचनाएं सभी रचनाकारों को बहुत बहुत बधाई

पंकज प्रियम ने कहा…

dhnaywad.bahut sundr

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Abhilasha ने कहा…

बहुत ही बढ़िया ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति श्रेष्ठ रचनाओं का सुंदर संकलन सभी चयनित रचनाकारों को बधाई

Satish Saxena ने कहा…

रचना पसंद करने के लिए आपका आभार शिवम् ! मंगलकामनाएं

Dr (Miss) Sharad Singh ने कहा…

मेरी पोस्ट को ब्लॅाग बुलेटिन में शामिल करने के लिए हार्दिक आभार !!!

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार