Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 31 अगस्त 2016

31 अगस्त का इतिहास और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।

आज का इतिहास

1881 - अमेरिका में पहली बार टेनिस चैंपियनशिप खेला गया।
1920- अमेरिकी शहर डेट्रायट में रेडियो पर पहली बार समाचार प्रसारित किया गया।
1956 - भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने राज्य पुनर्गठन विधेयक को मंजूरी दी।
1959 - अमेरिकी बेसबॉल खिलाड़ी सैंडी कुफैक्स ने एक नेशनल लीग रिकॉर्ड बनाया।
1962 - कैरेबियाई देश टोबैगो एवं त्रिनिदाद ब्रिटेन से स्वतंत्र हुए।
1964 - कैलिफोर्निया आधिकारिक रूप से अमेरिका का सबसे अधिक जनसंख्या वाला प्रांत बना।
1968 - भारत में टू-स्टेज राउंडिंग रॉकेट रोहिणी-एमएसवी 1 का सफल प्रक्षेपण किया गया।
1983 - भारत के उपग्रह इनसेट-1 बी को अमेरिका के अंतरिक्ष शटल चैलेंजर से प्रसारित किया गया।
1990 - पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी ने राजनीतिक और कानूनी व्यवस्था के तालमेल के लिए एक संधि पर हस्ताक्षर किए।
1991 - उज्बेकिस्तान और किर्गिस्तान ने सोवियत संघ से अपनी स्वतंत्रता की घोषणा की।
1993 - रूस ने लिथुआनिया से अपने आखिरी सैनिकों को वापस बुलाया।
1998 - उत्तरी कोरिया ने जापान पर बैलिस्टिक मिसाइल दागा।
2005 - इराक की राजधानी बगदाद में अल-एम्माह पुल के ध्वस्त होने से 1199 लोगों की मौत।


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर...


दद्दा ध्यानचंद हम तो बेशर्म हैं !!

अब सिंधुस्थान की माँग

दिल्ली और बारिश

क्या रूसी वैज्ञानिको ने एलियन सभ्यता के संकेत ग्रहण किये है ?

मोबाईल-मोबाईल

अजंता की गुफ़ाओं की सैर

राजेन्द्र अवस्थी को याद करते हुए कुछ प्रसंग

पीएम मोदी के कश्मीर मिशन का लक्ष्य

कितना कठिन है रोबो बच्चों का प्रशिक्षण

कृपया ड्रोन साथ लेकर आएं !

मरे घर के मरे लोगों की खबर भी होती है मरी मरी पढ़कर मत बहकाकर



आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे, तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

4 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर 31 अगस्त के इतिहास का संकलन एक सुंदर बुलेटिन प्रस्तुति हर्षवर्धन । आभार 'उलूक' के सूत्र "मरे घर के मरे लोगों की खबर भी होती है मरी मरी पढ़कर मत बहकाकर' को आज के बुलेटिन में जगह देने के लिये ।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी संकलित जानकारी के साथ सार्थक बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

शुक्रिया भाई।

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

शुक्रिया भाई।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार