Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

शुक्रवार, 25 मई 2018

रास बिहारी बोस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स नमस्कार।
रास बिहारी बोस
रास बिहारी बोस (अंग्रेज़ी: Rash Bihari Bose, जन्म: 25 मई, 1886; मृत्यु: 21 जनवरी, 1945) प्रख्यात वकील और शिक्षाविद थे। रास बिहारी बोस प्रख्यात क्रांतिकारी तो थे ही, सर्वप्रथम आज़ाद हिन्द फ़ौज के निर्माता भी थे। देश के जिन क्रांतिकारियों ने स्वतंत्रता-प्राप्ति तथा स्वतंत्र सरकार का संघटन करने के लिए प्रयत्न किया, उनमें श्री रासबिहारी बोस का नाम प्रमुख है। रास बिहारी बोस कांग्रेस के उदारवादी दल से सम्बद्ध थे। रास बिहारी बोस ने उग्रवादियों को घातक, जनोत्तेजक तथा अनुत्तरदायी आंदोलनकारी कहा। रासबिहारी बोस उन लोगों में से थे जो देश से बाहर जाकर विदेशी राष्ट्रों की सहायता से अंग्रेजों के विरुद्ध वातावरण तैयार कर भारत की मुक्ति का रास्ता निकालने की सोचते रहते थे। 1937 में उन्होंने 'भारतीय स्वातंय संघ' की स्थापना की और सभी भारतीयों का आह्वान किया तथा भारत को स्वतंत्र राष्ट्र घोषित कर दिया।


आज महान स्वतंत्रता सेनानी रास बिहारी बोस जी 132वीं जयंती पर हम सब उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~













आज की बुलेटिन की में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।। 

4 टिप्पणियाँ:

RAKESH KUMAR SRIVASTAVA 'RAHI' ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति हर्षवर्धन जी, आभार, इस चर्चा में सम्मलित सभी रचनाकारों को बधाई।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति। नमन रास बिहारी बोस को।

कविता रावत ने कहा…

बहुत अच्छी हलचल प्रस्तुति ..

Sadhana Vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर लिंंक्स का समावेश आज के बुलेटिन में ! मेरी रचना 'प्यासा पंछी' को सम्मिलित करने के लिए आपका ह्रदय से धन्यवाद एवं आभार हर्षवर्धन जी !

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार