Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

ब्लॉग बुलेटिन - ब्लॉग रत्न सम्मान प्रतियोगिता 2019

शुक्रवार, 18 मई 2018

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार।
अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस (अंग्रेज़ी: International Museum Day) प्रत्येक वर्ष '18 मई' को मनाया जाता है। संग्रहालय में हमारे पूर्वजों की अनमोल यादों को संजोकर रखा जाता है। यह दिवस विश्वभर में संग्रहालयों की भूमिका के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए प्रतिवर्ष मनाया जाता है। लोग तो चले जाते हैं, लेकिन उनकी यादें हमेशा बनी रहती हैं। यह यादें भी कई तरह से संजोकर रखी जाती हैं। हमारे पूर्वजों ने अपनी यादों को सुन्दर तरीक़े से संजोकर रखा, जिससे कि हम भी उनके बारे में जान सकें। ऐसी कई चीज़ें हैं, जो हमारे पूर्वज तो हमारे लिए रख कर गए। उसे नुक़सान न पहुंचे इसके लिए कई संग्रहालय बना दिये गए। जो हमें अपने पूर्वजों को याद रखने में मदद करते हैं।



~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

8 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन। आभार हर्षवर्धन बेवकूफ 'उलूक' की होशियारों पर पोस्ट को आज के बुलेटिन में जगह देने के लिये।

रश्मि शर्मा ने कहा…

सुंदर बुलेटिन। मेरी रचना के लिए आभार हर्षवर्धन जी।

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ प्रभात हर्ष भाई
बेहतरीन जानकारी
सुन्दर बुलेटिन
आभार
सादर

Anita ने कहा…

सुप्रभात, अन्तर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस के बारे में उत्तम जानकारी, पठनीय रचनाओं से सजा सुंदर बुलेटिन, आभार !

राकेश कुमार श्रीवास्तव राही ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति हर्षवर्धन जी, आभार, ब्लॉग बुलेटिन पर अन्तर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस के बारे में जानकारी देने हेतु धन्यवाद। इस चर्चा में सम्मलित सभी रचनाकारों को बधाई।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति

Kusum Kothari ने कहा…

पहली बार आई हूं काफी आकर्षक लगा बुलेटिन विभिन्न जानकारीयों के साथ नये लिंक सभी मन भावन। मेरी रचना को सामिल करने के लिये सादर आभार।

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

बहुत बढिया बुलेटिन, शुभकामनाएं।
जानिए क्या है बस्तर का सल्फ़ी लंदा

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार