Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 23 मई 2018

23 मई - विश्व कछुआ दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिंदी ब्लॉगर्स को नमस्कार। 
23 मई को संपूर्ण विश्व में विश्व कछुआ दिवस (World Turtle Day) मनाया जाता है। यह दिवस कछुओं की दुर्लभ प्रजातियों को लुप्त होने से बचाने के लिए लोगों में जागरूकता हेतु मनाया जाता है। कछुओं की प्रजाति विश्व की सबसे पुरानी जीवित प्रजातियों में से एक मानी जाती है। ये प्राचीन प्रजातियों स्तनधारियों, चिड़ियों सांपों और छिपकलियों से भी पहले धरती पर अस्तित्व में आ चुके थे। जीव-वैज्ञानिकों के अनुसार कछुए इतने लंबे समय तक सिर्फ इस लिए खुद को बचा सके क्योंकि उनका कवच उन्हें सुरक्षा प्रदान करता है। अंटार्कटिका को छोड़कर ये लगभग सभी महाद्वीपों में पाए जाते हैं। बोग कछुए जो कि लंबाई में 4 इंच के होते हैं, सबसे छोटे कछुए होते हैं। भारत में असम राज्य के जिला दीमा हसाओं में स्थित हेजोंग झील (जिसे कछुआ झील के नाम से पुकारा जाता है) में लगभग 400-500 कछुए निवास करते हैं।

कछुआ धीरे –धीरे विलुप्त होने की कगार पर है, यदि इनके प्रति लोगों में जागरूकता नही फैलायी गयी तो यह प्रजाति पूरी तरह से ख़त्म हो सकती है।  कछुओं की प्रजाति विश्व की सबसे पुरानी जीवित प्रजातियों (लगभग 200 मिलियन वर्ष) में से एक मानी जाती है और ये प्राचीन प्रजातियां स्तनधारियों, चिड़ियों ,सांपों और छिपकलियों से भी पहले धरती पर अस्तित्व में आ चुके थे। जीववैज्ञानिकों के मुताबिक, कछुए इतने लंबे समय तक सिर्फ इसलिए खुद को बचा सके क्योंकि उनका कवच उन्हें सुरक्षा प्रदान करता है। आईये एक संकल्प लें दुनिया की प्राचीन प्रजाति को बिलुप्त होने से बचाने का, इनके संरक्षण का। अपने आसपास के तालाबों, नदियों, जंगलों में इन्हें सुरक्षित रहने दें। 


~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~













आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।। 

7 टिप्पणियाँ:

Meena sharma ने कहा…

पता ही नहीं था कि विश्व कछुआ दिवस भी होता है...बढ़िया जानकारी,बेहतरीन बुलेटिन।

रश्मि शर्मा ने कहा…

मुझे नहीं मालूम था कछुआ दिवस भी होता है। शुक्रिया। मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार।

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

विश्व कछुआ दिवस पर सटीक जानकारी के साथ वैचारिक सूत्रों से सजा ब्लॉग बुलेटिन असरदार है. मेरी रचना को स्थान देने के लिये आभार.

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर कछुवा दिवस बुलेटिन।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति ..

Anita ने कहा…

विश्व कछुआ दिवस पर रोचक जानकारी, पठनीय रचनाओं के सूत्र देता सुंदर बुलेटिन, आभार!

Sadhana Vaid ने कहा…

अरे वाह ! नई जानकारी उपलब्ध कराता सारगर्भित बुलेटिन ! मेरी रचना 'सियासी खेल' को सम्मिलित करने के लिए आपका हृदय से आभार हर्षवर्धन जी !

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार