Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

सोमवार, 4 मार्च 2019

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |


शिव और सत्य एक ही है ... जब जब सत्य को पराजित करने के प्रयास होते हैं तो तांडव स्वतः शुरू हो जाता है।

ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से आप सभी को #महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें।

सादर आपका
 शिवम् मिश्रा
~~~~~~~~~~~~~~~~~

कुसुमेश्‍वर महादेव (उज्‍जैन)

शिवरात्रि सुर संगीत सुनो

जब लोगों ने हाथों की रंग बिरंगी छापों से लिख दिया जय गंगे

काश!

सत्य का डोलता अस्तित्व

नमामि ब्रह्मपुत्र

शिव की चली बारात

काले रंग का कौवा हो या कोयल इस ख़तरनाक समय में उनका बचना मुश्किल है

बीवी के जुल्म (हास्य रचना होली विशेष)

शाम का ढलता सूरज

~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिए ... 

जय हिन्द !!!

7 टिप्पणियाँ:

Anita saini ने कहा…

महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं ब्लॉग बुलिटेन परिवार को |शानदार प्रस्तुति के साथ सुन्दर रचनाएँ |मुझे स्थान देने के लिए सह्रदय आभार आदरणीय
सभी रचनाकारों को हार्दिक शुभकामनायें |
सादर

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

अपने अपने सत्य अपने अपने ताँडव। शिवरात्रि की मंगलकामनाएं। सुन्दर बुलेटिन।

Anita ने कहा…

वाह ! बहुत सुंदर बात, शिव और सत्य एक ही है ... जब जब सत्य को पराजित करने के प्रयास होते हैं तो तांडव स्वतः शुरू हो जाता है।
सुंदर सूत्रों से सजा बुलेटिन, आभार !

कुमार गौरव अजीतेन्दु ने कहा…

आपको भी हार्दिक शुभकामनाएँ भाई...सादर आभार आपका

Anuradha chauhan ने कहा…

बहुत सुंदर प्रस्तुति

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

मन की वीणा ने कहा…

शिवम जी बहुत अच्छी प्रस्तुति।
आप की मेहनत साफ दिख रही है खोज खोज कर सुंदर मसौदा लिये शानदार प्रस्तुति।
ब्लॉग बुलेटिन में मुझे शामिल करने हेतु हृदय तल से आभार।
सादर।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार