Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

मंगलवार, 18 अक्तूबर 2016

ब्लॉग - जो अब बंद हैं - 1




कब वक़्त भागते हुए बहुत व्यस्त हो गया, कहाँ पलक झपकते कोई
कहीं छूट गया, !!!
लिंक तो वे भी थे
थे हमारे लिए एक किताब
आज का बुलेटिन उनके नाम
जो अब नज़र नहीं आते
कैसे बुलायें उनको ?

अनुसरण तो उनका भी बहुतों ने किया था, आइये एक बार आवाज़ तो दें



पुरवाई

8 टिप्पणियाँ:

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

@आइये एक बार आवाज़ तो दें.....शायद लौट ही आएं

विभा रानी श्रीवास्तव ने कहा…

लौटें तो चहक गूँजे

संजय भास्‍कर ने कहा…

welcome

कविता रावत ने कहा…

सार्थक पहल ...मिलकर आवाज दें, शायद जाग उठें ..
और भी बहुत से ब्लॉग के किवाड़ जब बंद नज़र आते हैं तो उनकी वीरानगी खलती हैं

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर।

कौशल लाल ने कहा…

सार्थक पहल .....

राजीव कुमार झा ने कहा…

सुंदर पहल.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आशा ही कर सकते हैं कि यह सारे ब्लॉग और ब्लॉगर पुनः सक्रिय होंगे |
आप को इस सार्थक प्रयास के लिए साधुवाद |

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार