Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 9 अक्तूबर 2016

आओ आओ आ जाओ माँ दुर्गा ...



ओ माँ ओ माँ
सिंहासिनी माँ दुर्गा
हुंकार करो
संहार करो
इस जीवन का उद्धार करो 
आओ आओ आ जाओ माँ दुर्गा ...
तू ब्राह्मणी
तू माहेश्वरी
कौमारी वैष्णवी तू
वाराही नरसिंही
ऐन्द्री शिवदूती
हुंकार करो
संहार करो
इस जीवन का उद्धार करो
आओ आओ आ जाओ माँ दुर्गा ...
भीमादेवी
भ्रामरी
शाकम्भरी
आदिशक्ति
हे रक्तदन्तिका
माँ गौरा
महिषासुरमर्दिनि
अविनाशी
हुंकार करो
संहार करो
इस जीवन का उद्धार करो
आओ आओ आ जाओ माँ दुर्गा ...

मातृ शक्ति / सुमित्रानंदन पंत - कविता कोश

आध्यात्मिक यात्रा: जय माँ दुर्गा

11 टिप्पणियाँ:

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

कहाँ से ढूँढ लिया मिश्रा जी की पुरानी पोस्ट! आप भी कमाल की मेहनत करती हैं।

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

शानदार आह्वाहन।

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

शानदार आह्वाहन।

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

कहाँ से ढूँढ लिया मिश्रा जी की पुरानी पोस्ट! आप भी कमाल की मेहनत करती हैं।

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुत ही सुन्दर सूत्रों से सजी हुई बुलेटिन दीदी | अभी सारे लिंक थाम पोस्ट पर पहुँचते हैं

Jyoti Dehliwal ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन ।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

बढ़िया प्रस्तुति

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

बहुत ही सुन्दर लिंक्स और एक सुन्दर रचना दुर्गा पूजा के अवसर पर!!

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर बुलेटिन...आभार

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार