Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 13 फ़रवरी 2016

टेंशन नहीं लेने का ... मस्त रहने का - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

वलेंटाइन दिवस की पूर्व संध्या पर आप मे से जो इस बात से दुखी है कि उनके पास कोई भी वलेंटाइन नहीं है ... याद रखें ... विश्व एड्स दिवस की पूर्व संध्या पर शायद आपको एड्स भी नहीं था !


इस लिए ... टेंशन नहीं लेने का ... मस्त रहने का ... :)

सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

नज़्म

दीवानापन अच्छा लगेगा.....!!!

परम पहला भारतीय सुपर कंप्यूटर

आई झूम के बसंत ...झूमो संग संग में

योग भगाये रोग

रंडी और उसका रंडीपन : सबसे लोकप्रिय चारित्रिक विशेषण

काश देशद्रोहियों को जो सीधे सीध गोली मार देने का क़ानून होता इस देश में

शब्द ही संसार है

आजाद कलम

ऐ वीर तुझे अनंत नमन

गद्दारों की खैर नहीं ....

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!! 

10 टिप्पणियाँ:

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

मगर एड्स जैसे दोस्त बहुत से हैं... जो आज तक नहीं छूटे मुझसे!!
हमारी तो तीन वैलेंटाइन हैं... एक साथ और दो दूर! जब उनके गालों पे खिल जाते हैं गुलाब तो मुझे बागों में जाने की ज़रुरत ही नहीं होती!
अच्छा सन्देश! जय हो भुलेटन बाबा की!!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

मगर एड्स जैसे दोस्त बहुत से हैं... जो आज तक नहीं छूटे मुझसे!!
हमारी तो तीन वैलेंटाइन हैं... एक साथ और दो दूर! जब उनके गालों पे खिल जाते हैं गुलाब तो मुझे बागों में जाने की ज़रुरत ही नहीं होती!
अच्छा सन्देश! जय हो भुलेटन बाबा की!!

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

मस्त ।

vijay kumar sappatti ने कहा…

shukirya dost !!!

Madhulika Patel ने कहा…

बहुत बहुत शुक्रिया मेरी रचना को ब्लाग बुलेटिन में स्थान देने पर.

Asha Saxena ने कहा…

शानदार बुलेटीन लिंक्स |
मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद

Asha Joglekar ने कहा…

क्या सिर्फ प्रेमी ही वेलेंटाइन होते हैं हमारे लिये तो नाती पोते भी हैं वेलेंटाइऩ। सुंदर बुलेटिन।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति
आभार!

Abhimanyu Bhardwaj ने कहा…

माय बिग गाइड की पोस्ट को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने के लिये धन्यवाद

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार