Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 18 जुलाई 2015

४ का चक्कर - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

हम भारतीयों के जीवन में 4 नंबर का बहुत महत्व है। इसके कुछ प्रमुख उदाहरण इस प्रकार हैं।

जैसे...

जुम्मा-जुम्मा 4 दिनों का प्यार।

4 दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात।

4 किताबें पढ़ क्या लीं खुद को तीस मार खां समझते हो।

4 पैसे कमाओगे तब पता चलेगा।

4-4 आने में बिकती है आज के दौर में ईमानदारी।

आखिर हमारी भी 4 लोगों में इज़्ज़त है।

ये बात 4 लोग सुनेंगे तो क्या सोचेंगे।

4 दिनों की आई हुई बहू के ऐसे तेवर।

4 दिन तो दुकान में टिक कर बैठ जाओ।

वो आई और 4 बातें सुना कर चली गई।

तुमसे क्या 4 कदम भी नहीं चला जाता।

और अंत में आज के नौजवानों का मनपसंदीदा ...

4 बोतल Vodka काम मेरा रोज़ का।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

ब्लॉग बुलेटिन टीम की ओर से सभी पाठकों को भगवान श्री जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा और ईद के पावन अवसर पर हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं |

सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

चमकीले फीतों का जहर

कथनी की "रील" और करनी की "रियल" जिंदगी में अंतर

गगन शर्मा, कुछ अलग सा at कुछ अलग सा

लघुकथा – डर

suneel kumar sajal at sochtaa hoon......!

सद्भाव का सीज़न !

संतोष त्रिवेदी at टेढ़ी उँगली

सच्चे और नेकदिल आदमी की कहानी - बजरंगी भाई जान

ख़्वाबों के सिकंदर

मुरारी बापू की कथा

बारहमासी :अइहैं मोर अंगनवाँ हमार बलम

'सौदामिनी', जीवन के आख़िरी पन्नों से......

मीट क्यूट

स्व॰ राजेश खन्ना जी की तीसरी पुण्यतिथि

शिवम् मिश्रा at बुरा भला
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

10 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुंदर चार की चीर फाड़ । जहाँ चार यार मिल जायें वहाँ रात हो गुलजार / चार सौ के ऊपर बीस / जैसे और कई जगह चार का कमाल है । सुंदर सूत्रों के साथ सुंदर बुलेटिन शिवम जी ।

sunil deepak ने कहा…

ब्लाग बुलेटिन में मेरे आलेख को जगह देने के शिवम् आप को बहुत धन्यवाद

Aparna Sah ने कहा…

pathniy blog hai...

Tushar Rastogi ने कहा…

४ पक्तियां क्या लिख दीं समझ रहे हो चौक्का मार दिया - ;) - मस्त बुलेटिन भाई पढ़कर मज़ा आ गया पढ़कर | आज मेरी बुलेटिन लगाने के लिए शुक्रिया भाई | जय हो मंगलमय हो - हर हर महादेव :)

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

आभार शिवम् भाई।

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

आभार शिवम् भाई।

संतोष त्रिवेदी ने कहा…

आभार शिवम् भाई।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

4 का प्रयोग खरा

Kavita Rawat ने कहा…

जोरदार लगा ४ का चक्कर
सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार