Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 11 अक्तूबर 2013

जेपी और ब्लॉग बुलेटिन

सभी चिठ्ठाकार मित्रों को सादर नमन।।


आज भारत के महान गाँधीवादी नेता श्री लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी का 111 वां जन्म दिवस है। जयप्रकाश जी उर्फ़ जेपी को याद किया जाता है तो वह है उनके द्वारा आंदोलित "संपूर्ण क्रांति" (Total Revolution)। अपने जीवन के लम्बे समय में लोकतंत्र की कमियों को आलोचना करते - करते थक गए। सरकार की भी नीतियों में कोई खास परिवर्तन नहीं आया जिसके चलते भ्रष्टाचार, बेरोज़गारी, गरीबी और सत्ता केन्द्रीकरण निरंतर बढ़ती ही चली गई। जिससे जेपी ने अपने जीवन के अंतिम दशक में यह अनुभव किया कि भारत की ये समस्याएं विकराल रूप धारण कर चुकी है, जिसका एक मात्र उपाय है "संपूर्ण क्रांति"। अधिक पढ़े यहाँ पर …  


आज जेपी के जन्म दिवस पर पूरा हिंदी ब्लॉगजगत और हमारी पूरी ब्लॉग बुलेटिन टीम उन्हें सादर नमन करती है।।  


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर …

















तब तक के लिए शुभरात्रि।।

11 टिप्पणियाँ:

रश्मि शर्मा ने कहा…

बहुत बढ़ि‍या बुलेटि‍न...मेरी पोस्‍ट शामि‍ल करने के लि‍ए आपका आभार..

पूरण खण्डेलवाल ने कहा…

सुन्दर सूत्रों का संकलन !!

आशा जोगळेकर ने कहा…

सुंदर रोचक लिंक्स के लिये आभार।

Randhir Singh Suman ने कहा…

nice

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

उच्चारण की हमारी पोस्ट का लिंक देने के लिए धन्यवाद।

राजीव कुमार झा ने कहा…

बहुत सुंदर बुलेटि‍न एवं प्रस्तुति . मेरी पोस्‍ट शामि‍ल करने के लि‍ए आपका आभार..

शिवम् मिश्रा ने कहा…

लोकनायक को शत शत नमन !
बेहद उम्दा बुलेटिन प्रस्तुति ... आभार हर्ष !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

रोचक व पठनीय सूत्र

Neeraj Kumar ने कहा…

बहुत बढियां बुलेटिन , मेरी पोस्ट को शामिल करने का आभार .

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत सुंदर बुलेटि‍न एवं प्रस्तुति .. मेरी रचना को मंच में शामिल करने के लिये आभार,,

Sushil Kumar Kushwaha ने कहा…

Bahut Hi Achhi Jankari Ki Prastuti Aapke Dwara. Padhe Love Poem, Rachnayen, प्यार की कहानियाँ Aur Bhi Bahut Kuch.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार