Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

गुरुवार, 12 जुलाई 2012

नहीं रहे दारा सिंह ... ब्लॉग बुलेटिन

मित्रो आज का दिन मेरे लिए बहुत खास बन गया है ... पर दिन की शुरुआत बहुत बुरी हुई थी ... जब दारा सिंह जी के निधन का समाचार मिला | मैं हमेशा से ही उनका फैन रहा हूँ !
पिछले काफी अरसे से मैं एक बढ़िया जॉब ढूंढ रहा था ... सो आज मुझे मिल गयी ... सोमवार से जॉइन करना है ... आप सब का आशीर्वाद चाहिए होगा ! पर मेरी इस खुशी के पीछे आज एक छोटा सा दर्द भी है  ... दर्द है अब नियमित न रह पाने का ... पर भरोसा रखिए एक बार वहाँ जमते ही मैं फिर हाजिर हो जायुंगा आप सब का प्यार पाने और आप सब को नई नई पोस्टो तक ले जाने के लिए ... आज फिलहाल कुछ पोस्टें पेश है पर सिर्फ उनके लिंक ही दे पाया हूँ ... माफ कीजिएगा !

जैक एग्यूरो की कविता

Cinderella Fairy Tale

 सद्बुद्धि

 अरे...अरे...मैं गिर पड़ा.....

 बुनियाद...

 नज्म

 अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता ही नहीं, विश्वसनीयता भी ज़रूरी

 आज की हलचल में ---- रात बरसता रहा चाँद बूंद बूंद

 सना नना सायँ सायँ... पुरवा करत अठखेली...ब्लॉग4वार्ता....संध्या शर्मा

 फेरारी की सवारी : ताजगी से भरी हुई एक फिल्म
 हरियाया ये विरही सावन धीरज से श्रृंगार करो ......

 अन्धकासुर

बाबा भोलेनाथ का दर्शन

बेबसी का दर्शन

बूंद बूंद रिसती ज़िंदगी

http://lamhon-ke-jharokhe-se.blogspot.in/2012/07/blog-post_11.html
सूना पड़ा है तेरी आवाज़ का सिरा...

http://lamhon-ka-safar.blogspot.com/2012/07/blog-post.html
जीवन शास्त्र... 

http://neerajjaatji.blogspot.com/2012/07/kirti-glacier.html
Kirti Glacier कीर्ति ग्लेशियर

http://mallar.wordpress.com
जामिया मस्ज़िद (श्रीनगर)
-सावन के इस मौसम में -

बिहार के कुलपतियों की नियुक्ति में धांधली. -

अंत मे :- 
दारा सिंह (19 November 1928-12 July 2012)
रुस्तम ए हिन्द दारा सिंह जी को पूरी ब्लॉग बुलेटिन टीम और आप सब की ओर से शत शत नमन और हार्दिक विनम्र श्रद्धांजलि !

16 टिप्पणियाँ:

abhi ने कहा…

शेखर बाबू...जॉब की बधाई और मस्त बुलेटिन है...मेरे पोस्ट को भी शामिल कर दिया...चलिए थैंक्स बोल देता हूँ...
वैसे सर जी, केक वेक का इंतजाम दिल्ली में भी करवा दीजिए....

shikha varshney ने कहा…

पहली बात सबसे पहले
-आपको बहुत बहुत बधाई और ढेरों शुभकामनायें नई जॉब के लिए.
-लिंक्स बहुत ही अच्छे लगाए हैं
-और दारा सिंह का जाना भारत ke रुस्तम ऐ हिन्द का जाना है.उन्हें विनर्म श्रद्धांजलि.

shikha varshney ने कहा…

सबसे पहले सबसे पहली बात
नई जॉब की बहुत बहुत बधाई
बेहतरीन लिंक्स
और रुस्तम ए हिन्द दारा सिंह को विनर्म श्रद्धांजलि.

Sushil Bakliwal ने कहा…

जीवन में एक बार हमारे ही इन्दौर शहर में दाराजी के साथ कुछ मिनिट खडे होने का संयोग मिला और उनकी सादगी मस्तिष्क में सदा-सदा के लिये अंकित हो गई । उन्हें मेरी भी विनम्र श्रद्धांजली...
और हाँ आपके नये मनपसंद जाब के लिये अनेकानेक शुभकामनाएँ...

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आपको बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें .... बहुत सारे लिंक्स समेत लिए हैं ... आभार ॥

दारा सिंह को विनम्र श्रद्धांजलि

कुमार राधारमण ने कहा…

नए जॉब की बधाई स्वीकार करें।

Unknown ने कहा…

आम लोगों की जिंदगी में दारा सिंह होने का मतलब सिर्फ कॉमवेल्थ गेम्स का गोल्ड मेडलिस्ट या सिल्वर स्क्रीन पर दिखनेवाले पहला शर्टलेस स्टार या फिर रामायण में लक्ष्मण के लिए संजीवनी लानेवाले हनुमान भर से नहीं है । बल्कि दारा सिंह होने का मतलब इससे कहीं आगे तक है । आम लोगों के बीच दारा सिंह उपनाम बन चुका है ।
www.koilakhexpress.blogspot.com

दिनेशराय द्विवेदी ने कहा…

नया काम मुबारक हो।

Asha Lata Saxena ने कहा…

नए जॉब के लिए शुभाशीष |प्रार्थना है ईश्वर से कि आगे आगे बढ़ते जाएँ |
दारा सिंह जी कको विनम्र श्रद्धांजली |

संगीता पुरी ने कहा…

ढेर लिंक..

बढिया बुलेटिन ..

आपको शुभकामनाएं !!

रविकर ने कहा…

सादर नमन |

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

सबके प्रिय महान कलाकार, महान इंसान, महान भक्त आदरणीय श्री दारा सिंह रन्धावाजी को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि..

शिवम् मिश्रा ने कहा…

अपराजेय रुस्तम ए हिन्द दारा सिंह जी को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि |

तुम्हें ढेर सारी बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

इस बुलेटिन के लिए बहुत बहुत आभार ... बुलेटिन पर तुम्हारी कमी खलेगी ... पर पता है कि मिलना जुलना होता रहेगा इस लिए यह भी मंजूर है !

Dev K Jha ने कहा…

मेरा रुस्तम चला गया..... और कुछ लिखनें को हिम्मत ही नहीं....

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

कुछ छूटे हुये सूत्रों को भी पढ़ता हूँ..

HARSHVARDHAN ने कहा…

DARA JESE LOG DUNIYA ME DOBARA NAHI AATE HAI.

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार