Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 26 सितंबर 2016

भूली-बिसरी सी गलियाँ - 8



एक तीली तुम जलाना 
एक तीली मैं 
अँधेरा कट जायेगा 
एक कदम तुम नापना 
एक कदम मैं 
बीहड़ रास्ता छोटा हो जायेगा
अँधेरे में एक बात याद रखना
सूरज तुम्हारे हिस्से भी है
मेरे हिस्से भी
कुछ आग तुम बटोरना
कुछ मैं
पूरा दिन मुट्ठी में होगा ही होगा


मेरा सरोकार

HARMONY

KAVYASUDHA ( काव्य सुधा )

अपना आकाश - Blogger



Search Result

9 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति । अंतिम लिंक http://ashutoshmishrasagar.blogspot.in/ थोड़ा ठीक से नहीं लगा है ।

Onkar ने कहा…

सुन्दर लिंक्स. मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार.

Rekha Joshi ने कहा…

बहुत सुन्दर,मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार

Anupama Tripathi ने कहा…

हार्दिक आभार रश्मि दी बहुत खुशी मिली आपने मेरे ब्लॉग को स्थान दिया !!ब्लोगिंग हेतु सकारात्मक प्रयास है ये !!मंगलकामनाएं !!

Asha Saxena ने कहा…

मेरा ब्लॉग आपके ब्लॉग संकलन में देख बहुत अच्छा लगा |मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए आभार सहित धन्यवाद |

Suman ने कहा…

बहुत बहुत आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सुन्दर लिंक संकलन ..

Rakesh Kumar ने कहा…

बहुत बहत आभार

Amrita Tanmay ने कहा…

है जग रहा आलोक , बिखर रही है प्रभा ....

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार