Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

शुक्रवार, 27 जून 2014

ब्लॉग बुलेटिन - 75वाँ जन्मदिवस दिवंगत राहुल देव बर्मन (पंचम दा)

सभी ब्लॉगर मित्रों को सादर नमस्कार।।
हिन्दी फिल्मों के प्रसिद्ध संगीतकार राहुल देव बर्मन का जन्म 27 जून, 1939 ई. कोलकाता ( पश्चिम बंगाल ) में हुआ था। राहुल देव बर्मन के पिता सचिन देव बर्मन ( एस. डी. बर्मन ) भी हिन्दी फिल्मों के जाने - माने संगीतकार थे। राहुल देव बर्मन जी को आर. डी. बर्मन, पंचम और पंचम दा के नाम से भी जाना जाता है। राहुल देव बर्मन जी को फिल्म जगत में पंचम नाम से पुकारा जाता था।  यहाँ चटका लगाकर आगे पढ़े .... 


आज राहुल देव बर्मन यानि पंचम दा के 75वें जन्मदिवस पर हिन्दी ब्लॉगजगत और ब्लॉग बुलेटिन टीम उन्हें और उनके संगीत को याद करते हुए उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते है। सादर।। 


अब चलते हैं आज कि बुलेटिन की ओर  ………… 














 आज की ब्लॉग बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। शुभरात्रि।।

8 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुंदर बुलेटिन हर्ष । पंचम दा को श्रद्धासुमन ।

आशीष अवस्थी ने कहा…

बढ़िया लिंक्स व प्रस्तुति , हर्ष भाई व बुलेटिन को धन्यवाद !
Information and solutions in Hindi ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )

shikha varshney ने कहा…

पंचम दा को नमन। बढ़िया बुलेटिन।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

पंचम दा को शत शत नमन ।

आभार हर्ष।

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

अभी कुछ रोज़ पहले अभिषेक के साथ एक चर्चा हो रही थी पंचम दा के नायाब संगीत की और उनके मौत के कारण की. एक अनोखा संगीतकार, जिसके अन्दर अपने पिता से मिले संगीत की विरासत भी थी और लीक से हटकर चलने का माद्दा भी. यूँ तो उनके सारे गीत स्मरणीय हैं, लेकिन गुलज़ार साहब के साथ उनकी जोड़ी एक अजीब नशा पैदा करती है. मेरा नमन उस महान संगीतकार को!

Unknown ने कहा…

aaj aapke bulletin par akar achchhha laga...badhiya bulletin

वाणी गीत ने कहा…

पंचम दा को नमन .!
बुलेटिन के लिंक्स भी बढ़िया है !

HARSHVARDHAN ने कहा…

आप सभी का सादर धन्यवाद।।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार