Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 20 मार्च 2013

इश्क़िया होली.......

प्रणाम मित्रगण,
सादर आभार और प्यार, 
फागुन मास और होली की परवाज़  | प्रियतम पास तो होली हो खास | करता हूँ प्रस्तुत कुछ ऐसे जज़्बात |माहौल आजकल बहुत ही रूमानी है | फिजां में इश्क और मोहब्बत के रंगों के साथ ही होली की मस्ती भी कुछ सर चढ़ रही है | सौगात-ए-इश्क आपके सामने पेश कर रहा हूँ आज | ऐसे में दिल नादान बन जाये तो क्या गिला कीजे | मौसम-ए-इश्क में अरमान मचल जाएँ तो क्या गिला कीजे | थोड़ी बेखुदी दिल पे छाये तो क्या गिला कीजे | हो जाये फिर कमाल-ए-इश्क और धमाल-ए-होली साथ में | लीजिये आप भी मेरी इश्किया होली का लुत्फ़ उठाइए | 




इश्क़िया होली पर तुझे दिल पेश करूँ
इश्क़िया होली पर तुझे जां पेश करूँ
इश्क़िया होली पर तुझे जहां पेश करूँ
जो तू कहे नगमा-ए-जज़्बात तुझे 
मेरी जानिब-ए-मंजिल पेश करूँ
गर मालूम हो तेरी नियाज़-ए-इश्क 
फ़िर नगमात-ए-इश्क गाकर वही 
दिलनवाज़ दिल्साज़ मैं पेश करूँ
जो तेरी नम हसरतों को हवा दे 
जज़्बात वही सजाकर पेश करूँ 
या कोई तेरी ग़ज़ल, कविता, किस्सा 
तेरे ही अल्फाजों में तुझे पेश करूँ 
तू जो एक बार मिल जाये होली पर 
अपने नवरंग प्यार की बौछार से भीगा
सराबोर कर, तुझको तुझे ही पेश करूँ 
अबके होली....


आज के बुलेटिन के टिमटिमाते सितारे .....












उम्मीद है आपको आजके बुलेटिन का आगाज़ और अंदाज़ पसंद आया होगा | आप प्यार टिप्पणियों के रूप में चाहूँगा | मेरी और ब्लॉग बुलेटिन के सभी सदस्य मित्रों की तरफ से आप सभी को आने वाली होली की हार्दिक शुभकामनायें | आप सभी की होली शुभ हो, मंगलमय हो, हुडदंगी हो |

शुक्रिया....नमस्कार....आदाब |

14 टिप्पणियाँ:

विभा रानी श्रीवास्तव 'दंतमुक्ता' ने कहा…

होली की बहुत-बहुत आशीष और ढेरों शुभकामनायें !!

Rajendra kumar ने कहा…

बहुत ही सुन्दर प्रस्तुतीकरण,सभी पठनीय लिंक्स.

Unknown ने कहा…

इस अंक में मुझे स्थान देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

waah bahut badhiya ...

दिगंबर नासवा ने कहा…

बहुत खूब अंदाज ...

Unknown ने कहा…

भोर तक मेरी यात्रा में साथ निभाने के लिए ....सुनहरी किरणों सा धन्यवाद

रविकर ने कहा…

बढ़िया है भाई तुषार जी -

shikha varshney ने कहा…

बढ़िया है ..

Guzarish ने कहा…

बहुत खूब
गुज़ारिश : ''..होली है ..''

Smart Indian ने कहा…

होली की शुभकामनायें!

इमरान अंसारी ने कहा…

बहुत बहुत शुक्रिया तुषार जी......जज़्बात की पोस्ट को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने का ।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत बेहतरीन, शुभकामनाएं.

रामराम.

Saras ने कहा…

मेरी रचना को ब्लॉग बुलेटिन पर स्थान देने के लिए हार्दिक आभार तुषारजी

शिवम् मिश्रा ने कहा…

इश्क़ का रंग तो जिस पर चढ़े ... कभी न उतरे ... ऊपर से इश्किया होली मतलब सोने पर सुहागा ... जय हो तुषार बाबू !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार