Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

मंगलवार, 25 सितंबर 2012

अहंकार में तीनों गए - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,
प्रणाम !

आज का ज्ञान :-

अहंकार में तीनों गए ;
 धन, वैभव और वंश !
 ना मानो तो देख लो ;
 रावण , कौरव और कंस !

सादर आपका 


====================================

ये मोहब्बत जो ना कराये थोडा - सत्य वचन देवी 

~: कुछ हाइकु :~ - फिर सवाल पैदा होता है कि काए कू 

सल्तनत ... - सलामत नहीं 

रस और विचार का संगम .... एक काव्य संध्या ऐसी भी ! - अच्छा 

नपुंसकता - गंभीर बीमारी है 

बॉस की पत्नी हैं आप, बॉस नहीं .. - इत्ती सी बात समझती नहीं है यार

तुम कहाँ हो ? - कुछ पता तो चले 

.......... नकाब -- संजय भास्कर - सब पहने है 

गाँठ पड़ना ठीक है ! - पर हमने तो कुछ और ही सुना था 

 

राजनेता कौन होता है ??? - हम तो नहीं है 

" दर्द का महाराजा .......दाँत का दर्द ...." - दिल मेरा दर्द का गोदाम बन कर रह गया 

श्रद्धांजलि ...... - हम सब की भी ओर से ... 

 

श्री गणपतिजी की अष्टोत्तरशत नामावली यानी श्री गणेशजी के १०८ नाम, - जय हो 

किन्तु! मृत्यु ठहरी हुई !! - हम्म

गाहे गाहे इसे पढ़ा कीजे ...6 - ज़िन्दगी से बड़ी किताब नहीं 

===========================


अब आज्ञा दीजिये ...

 जय हिन्द !!

9 टिप्पणियाँ:

अशोक सलूजा ने कहा…

आज का ज्ञान ...बढ़ाए आप का मान ....
शुभकामनायें!

Anupama Tripathi ने कहा…

badhia caption aur sundar links ...!!
badhia buletin ...!!

मेरा मन पंछी सा ने कहा…

बहुत सुन्दर लिंक्स
बढ़िया बुलेटिन...
:-)

रश्मि प्रभा... ने कहा…

अहंकार तजो सच अपनाओ
मन के अन्दर शिव को पाओ
................. लिंक्स हमेशा की तरह बहुत बढ़िया

मनोज कुमार ने कहा…

बुलेटिन बांचना अच्छा लगा।

sriram roy ने कहा…

bhut hi accha kaam....

vandan gupta ने कहा…

बहुत सुन्दर लिंक्स

रश्मि प्रभा... ने कहा…

कहाँ से चले कहाँ के लिए,ये खबर ही नहीं ....... लिंक्स मंजिलों का पता देने के लिए काफी है

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार