Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 17 फ़रवरी 2017

युद्ध की शुरुआत - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

लीजिये ... एक लतीफ़ा पढ़िये ...

बेटा: पिताजी, युद्ध कैसे शुरू होते हैं?

पिताजी: मान लो अमेरिका और इंग्लैंड में किसी बात पर मतभेद हो गया...

माँ: लेकिन अमेरिका और इंग्लैंड में मतभेद हो ही नहीं सकता।

पिताजी: अरे भई मैं तो सिर्फ उदाहरण दे रहा था...

माँ: मगर तुम गलत उदाहरण देकर बच्चे को बहका रहे हो।

पिताजी: मैं नहीं बहका रहा हूँ...

माँ: ये बहकाना नहीं तो और क्या है?

पिताजी: चुप रहो.. एक बार कह दिया न कि नहीं बहका रहा हूँ, मतलब नहीं बहका रहा हूँ।

माँ: मैं क्यों चुप रहूँ, ये मेरे बच्चे की पढ़ाई का सवाल है। आज ये बॊल रहे हो कल को कुछ और गलत बोलोगे...

बच्चा: प्लीज... आप लोग झगड़ा मत करिये... मैं समझ गया कि युद्ध कैसे शुरू होते हैं।
 
सादर आपका 

6 टिप्पणियाँ:

विरम सिंह ने कहा…

Bahut achhi bulletin. Meri post ko shamil krne ke thanks.

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति शिवम जी ।

sadhana vaid ने कहा…


Sarthak bulletin. Meri rachna ko sthan dene ke liye apka abhar.

Jayanti Prasad Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर बुलेटिन।मेरी रचना को शामिल करने के लिये बहुत धन्यबाद।

Kavita Rawat ने कहा…

आजकल के बच्चे जल्दी से समझ जाते हैं
बहुत सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार