Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 30 दिसंबर 2013

सफ़ेद भेड़ - काली भेड़ - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

एक मासूम हिमालय की तराई में भेड़े चरा रहा था, तभी वहा से एक गुज़रते हुए पर्यटक ने लड़के से पूछा, "ये भेड़े कितना दूध देती है ?"

 लड़का: कौनसी, सफ़ेद वाली या काली वाली ?

 पर्यटक: सफ़ेद वाली।

 लड़का: 3 लीटर।

 पर्यटक: और काली वाली ?

 लड़का: ये भी 3 लीटर देती है।

 पर्यटक: ये ऊन कितनी देती है।

 लड़का: कौनसी सफ़ेद वाली या काली वाली ?

 पर्यटक: सफ़ेद वाली।

 लड़का: 5 किलो।

 पर्यटक: और काली वाली ?

 लड़का: वो भी 5 किलो।

 पर्यटक: अबे साले जब ये दूध बराबर देती है, ऊन बराबर देती है तो फिर ये काली भेड़ ,सफ़ेद भेड़ क्या लगा रखी है?

 लड़का: जी वो बात ये है की ये सफ़ेद भेड़ मेरे पिताजी की है।

 पर्यटक: और ये काली भेड़ ?

 लड़का: ये भी मेरे पिताजी की ही है।

सादर  आपका 
==============================

"टोपी हिन्दुस्तान की" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

अभी इसके सर कभी उसके सर 

नांगलोई में काव्य गोष्ठी और एडवेंचर मेट्रो ट्रेल -- एक सफ़र की दास्ताँ !

सुनाइए 

विदेश का खोखला आकर्षण

अक्सर आकर्षित करता है 

.....और माँ माँ ही होती है -एक लघु कथा

सत्य वचन 

किताबों की दुनिया - 90

बड़ी अनोखी 

आग से रिश्ता ...

गर्मी भरा 

कितने ही रंग...!

मनभावन

पान की दुकान पर केजरीवाल का असर 

जोशी जी की खास रिपोर्ट 

मिशन मून

पूरा हो सून 

चाहिये था क्या हमें, ये सोचते ही रह गये

कल्पना के पृष्ठ शब्द खोजते ही रह गये

बस उनकी आँखें ही लॉगिन करती हैं

है अपने दिल का अकाउंट बहुत महफूज

==============================
अब आज्ञा दीजिये ...
 
जय हिन्द !!!

7 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुंदर भेड़ अरे नहीं नहीं बुलेटिन आज का :)

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

:)

अनुपमा पाठक ने कहा…

हँसता हुआ विदा हो यह साल और हँसता हुआ ही आये नव वर्ष!
सुन्दर प्रस्तुति!

sadhana vaid ने कहा…

सार्थक सशक्त सूत्रों से सजा बुलेटिन ! सभी पाठकों को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें !

Abhimanyu Bhardwaj ने कहा…

नव वर्ष की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामाये
अवश्‍य देखिये क्‍योंकि यह आपके सहयोग के बिना संभव नहीं था -
माय बिग गाइड का सफर 2013

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

डॉ टी एस दराल ने कहा…

हा हा हा ! मजेदार वाकया ! नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें .

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार