Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 23 दिसंबर 2013

बदसूरत बच्चा और ब्लॉग बुलेटिन

सभी मित्रों को सादर नमन।।

आज आप सबके लिए पेश है एक मजेदार चुटकुला - बदसूरत बच्चा!

एक महिला बच्चे को गोद में लिए हुए बस में चढ़ी। ड्राइवर ने उसके बच्चे कि तरफ देखा और कहा, "मैंने ऐसा बदसूरत बच्चा आज तक नहीं देखा।" महिला ने टिकट लिया और पीछे बैठ गई। उसे ड्राइवर की बात का बुरा लगा था, इसलिए वह थोड़ी उदास सी थी। उसके पास बैठे आदमी ने पूछा, "बहन जी क्या बात है ? आप परेशान लग रही हैं।"
महिला बोली - "अभी-अभी ड्राइवर ने मेरी बेइज्जती की है।"
आदमी बोला - "क्यों ? वह तो जनता का नौकर है उसे यात्रियों की बेइज्जती नहीं करनी चाहिए।"
महिला बोली - "आप ठीक कहते हैं, मुझे उसकी बदतमीजी का जवाब देना चाहिए, ताकि मन को शांति मिले।"
आदमी बोला - "ये बहुत अच्छी बात कही आपने, आप जाइये और  ………… इस बन्दर को मुझे दे दीजिये !!"

 


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर  ……














कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि।।

12 टिप्पणियाँ:

नीलिमा शर्मा ने कहा…

lajawab links .abhi padhte hain one by one

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बदसूरत बच्चा और खूबसूरत बुलेटिन में उल्लूक का "आम में खास खास में आम समझ में नहीं आ पा रहा है" दिखाने के लिये आभार !

वाणी गीत ने कहा…

आदमी बेइज्जतीप्रूफ हो जाये , अब तो यही उचित है :)

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़े ही रोचक सूत्र।

Suresh Swapnil ने कहा…

bahut-bahut dhanyawad, mitr-gann..behatareen links.

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

Jab bachpan me Aakashvani se juda, to sabse pahla sabak ye sikhaya gaya ki kabhi bhi kisi ki lachari, kamzori ya kami ka mazak mat udana.. aur ye baat umra bhar ka sabak ban gayi. Maine apne blog par do post likhi hai ek mere andhe dost aur doosrs goonge chacha ji ke bare me. Ek post apne facebook mitr Ravi sir ki kamzori par.. Lekin ek bachche ka mazak wo bhi uski maan ke samne.. Ye joke nahin ho sakta..
Sorry doston.. Mujhe maaf karein.. Main zara purane khyalon ka hoon!!

Bhavana Lalwani ने कहा…

achha collection hai .. rozana ke kahani kavita vagera se kuchh alag aur umda kism ka padhne ko mila

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

Lagbhag sare links dekh liye.
Ek taazi hawa ke jhonke si hain sari posts!!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

बुलेटिन पर की गई मेहनत पर लतीफे ने पानी फेर दिया ... :(

G.N.SHAW ने कहा…

Woh dear monkey thaa....

G.N.SHAW ने कहा…

All links are good

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

भाई बहुत सुन्दर ब्लॉग बुलेटिन आपका देर से आया लेकिन अच्छा लगा |आभार

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार