Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 25 जून 2013

काश हर घर मे एक सैनिक हो - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,
प्रणाम !

पवन जी का यह कार्टून सब कुछ कह रहा है सो मैं नया कुछ कह कर आप लोगो और आज की बुलेटिन के बीच बाधा नहीं बनूँगा !

सादर आपका 

========================

राजनीति चालू आहे - - - - - - mangopeopl

ब्‍लॉग कार्यशाला में आप सादर आमंत्रित हैं।

ब्लॉगिंग के ९ वें वर्ष में प्रवेश..

अचानक ..

छज्जू दा चौबारा

आज का केदारनाथ मंदिर और सन 1882 की तस्वीरें

जिज्ञासा जगाता है गाँधी का ब्रह्मचर्य प्रयोग

माइक्रोसॉफ्ट office 2010 डाउनलोड करे

सोनिया, मनमोहन ने पर्यटकों का रास्ता रोका !

जियो तो जानूं

मेरा ही मिजाज !!!

========================
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

16 टिप्पणियाँ:

Dev K Jha ने कहा…

आज की हकीकत है यह कार्टून...

अजय त्यागी ने कहा…

सच को सलाम! बस और क्या कहने को बचा।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

मेरे घर में है न मेरा बेटा - गर्व है हमारा,हमारे देश का

Vivek Rastogi ने कहा…

धन्यवाद जी

Ashok Khachar ने कहा…

सच को सलाम!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर और पठनीय सूत्र, कितना कुछ कहते हुये।

HARSHVARDHAN ने कहा…

शानदार और मजेदार बुलेटिन शिवम भाई। हार्दिक आभार।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

@रश्मि दी
बिलकुल दीदी ... हम सब को गर्व है अपनी सेना पर !
जय हिन्द ... जय हिन्द की सेना !

premkephool.blogspot.com ने कहा…

सच को सलाम

Pallavi saxena ने कहा…

आज की यह प्रस्तुति बहुत कुछ कह रही है।

Anurag Sharma ने कहा…

करोड़ों दिलों की बात को एक चित्र और चंद शब्दों में कह पाना एक सफल कार्टून की विशेषता है। जय हिन्द, जय हिन्द की सेना!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

कविता रावत ने कहा…

सार्थक बुलेटिन प्रस्तुति ...आभार

Kirti Vardhan ने कहा…

jee haan ,yah to garv ki baat hai magar aaj hamare shikshaa nirdharakon ne to anivarya N C C bhi kahin khatm kar di hai ,public schoolon me to koi baat hi nahi karataa . kaise ho rashtra nirmaan , jab kar rahe hain ham sab paise ka samman ?

bahut sunder sandesh diya hai aapne

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बाहर था, आज देख पाया
आभार

Rekha Joshi ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन में मेरी रचना को शामिल करने के लिए हार्दिक आभार ,मै कुछ दिनों के लिए बाहर थी ,इस कारण टिप्पणी न दे सकी ,क्षमा चाहती हूँ .धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार