Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 23 जून 2013

छह नीतियां

आदरणीय ब्लॉगर मित्रों सादर प्रणाम,

जीवन में उपयोगी यह छह नीतियां हमेशा याद रखें :

प्रार्थना करने से पहेल - विश्वास करें
बोलने से पहले - सुना करें
खर्चा करने से पहले - कमाया करें
लिखने से पहले - सोचा करें
हारने से पहले - कोशिश करें
मरने से पहले - जिया करें

आज की कड़ियाँ 

ईश्वर निर्गुण है या सगुण ? - सौरभ आत्रेय

याद आया - उदयवीर सिंह

कार्तिक पूर्णिमा - अनिल शर्मा

नींद से चौंक पड़े - अज़ीज़ जौनपुरी

६०१ - गोपाल कृष्ण शुक्ल

गर्म हवाएं - प्रमोद सिंह

कभी कभी - पारुल पंखुरी

मोदी विकल्प हैं या आशा की किरण ? - महेश सिंह

अपन तो इस खिचड़ी से ही काम चला लेंगे - अजीत सिंह तैमुर

सर्जन वह है जिसमें तुम अपना सब कुछ करते हो उत्सर्ग - बरीस पास्‍तरनाक - कुमार मुकुल

लगाम जरूरी लगाम जरूरी - पवित्र

अब इजाज़त | आज के लिए बस यहीं तक | फिर मुलाक़ात होगी | आभार

जय श्री राम | हर हर महादेव शंभू | जय बजरंगबली महाराज 

9 टिप्पणियाँ:

sanny chauhan ने कहा…

badiya links tushar ji

recent post
छोटे लेकिन बहुत काम के सॉफ्टवेर

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर और पठनीय सूत्र।

Sushil Bakliwal ने कहा…

उपयोगी सूत्र संदेश.

कविता रावत ने कहा…

बहुत बढ़िया पठनीय बुलेटिन प्रस्तुति ..

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!

HARSHVARDHAN ने कहा…

सुंदर और सार्थक बुलेटिन तुषार भाई।

विश्व शरणार्थी दिवस (World Refugee Day)
बैलून से भी इंटरनेट सेवा देगा गूगल, गूगल की नई योजना - "प्रोजेक्ट लून"।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

सभी नितीयां कारगर हैं, सुंदर लिंक्स मिले, आभार.

रामराम.

Madan Mohan Saxena ने कहा…

उत्क्रुस्त

शिवम् मिश्रा ने कहा…

बेहद सुंदर और सार्थक बुलेटिन तुषार भाई।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार