Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 3 जनवरी 2018

सतीश धवन और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को मेरा सादर नमस्कार।
सतीश धवन
सतीश धवन (अंग्रेज़ी: Satish Dhawan, जन्म- 25 सितंबर, 1920; मृत्यु- 3 जनवरी, 2002) भारत के प्रसिद्ध रॉकेट वैज्ञानिक थे। देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम को नई ऊँचाईयों पर पहुँचाने में उनका बहुत ही महत्त्वपूर्ण योगदान था। एक महान् वैज्ञानिक होने के साथ-साथ प्रोफ़ेसर सतीश धवन एक बेहतरीन इनसान और कुशल शिक्षक भी थे। उन्हें भारतीय प्रतिभाओं पर बहुत भरोसा था। सतीश धवन को विक्रम साराभाई के बाद देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। वे 'इसरो' के अध्यक्ष भी नियुक्त किये गए थे। प्रोफ़ेसर धवन ने इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस में कई सकारात्मक बदलाव किए थे। उन्होंने संस्थान में अपने देश के अलावा विदेशों से भी युवा प्रतिभाओं को शामिल किया। उन्होंने कई नए विभाग भी शुरू किए और छात्रों को विविध क्षेत्रों में शोध के लिए प्रेरित किया। सतीश धवन के प्रयासों से ही संचार उपग्रह इन्सैट, दूरसंवेदी उपग्रह आईआरएस और ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी का सपना साकार हो पाया था।



आज भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिक सतीश धवन जी की 15वीं पुण्यतिथि पर हम सब उन्हें शत शत नमन करते हैं।


~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~











आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर .... अभिनन्दन।। 

5 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

नमन सतीश धवन को। सुन्दर बुलेटिन। आभार हर्षवर्धन 'उलूक' के आकाश तोड़ने के दुस्साहस को जगह देने के लिये।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

नमन सतीश धवन जी को ...
सुंदर बुलेटिन ... आभार मेरी रचना की जगह देने का ...

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

Munendra Singh ने कहा…

kafi acchi jankari, bank csp lene ke liye padhe Read how to get it
Read in Hindi

Darren Demers ने कहा…

नमन सतीश धवन को। सुन्दर बुलेटिन। आभार हर्षवर्धन 'उलूक' के आकाश तोड़ने के दुस्साहस को जगह देने के लिये। antique gold earrings designs with price , flapper head pieces , cardboard jewelry boxes , nishat linen scarf

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार