Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

शनिवार, 6 जुलाई 2013

अंतर्राष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष .... ब्लॉग बुलेटिन

ब्लॉग बुलेटिन के सभी मित्रों को हार्दिक नमस्कार।



संयुक्त राष्ट्र संघ ने वर्ष 2013 को अंतर्राष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष (International Year of Water Cooperation) के रूप में घोषित किया है। दिसम्बर 2010,  में संयुक्त राष्ट्र संघ ने वर्ष 2013 को अंतर्राष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। संयुक्त राष्ट्र संघ ने सबके लिए जल, जल का सार्थक उपयोग तथा जल के संरक्षण के लिए ही वर्ष 2013 को अंतर्राष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष के रूप में मनाने का निश्चय किया है। हर साल लाखों टन जल की बर्बादी होती है। वर्ष 2013 को अंतर्राष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष के रूप मनाने का निर्णय इस लिए भी लिया गया है क्योंकि विश्व के सभी देश जल के संरक्षण और उसके रख-रखाव के बारे में ठोस कदम उठा सके।

जल से सम्बंधित विश्व भर के रोचक तथ्य :-

1-) एक व्यक्ति अपने पूरे जीवनकाल में लगभग 60,000 लीटर पानी पी जाता है।
2-)  हमारे देश के सारे अखबारों को एक दिन की छपाई के लिए लगभग 2,000 लाख गैलन पानी की ज़रूरत होती है।
3-) एक किलोवाट जल विध्दुत के लिए 400 गैलन पानी की आवश्यकता होती है।
4-) दूषित पानी पीने से दुनिया भर में हर साल लगभग 22 लाख लोग मरते हैं।
5-)  एक व्यक्ति बिना भोजन किये 2 महीने जीवित रह सकता है लेकिन पानी पिये बगैर मुश्किल से एक हफ्ता ही जीवित रह सकता है।
6-) दुनिया भर में प्रति 10 व्यक्तियों में से 2 व्यक्तियों को पीने का शुद्ध पानी भी नहीं मिलता है।
7-) हमारी पृथ्वी का लगभग 71 % हिस्सा जल से भरा है, जो कुल एक अरब 40 घन किलो लीटर पानी के रूप में है। लेकिन इसमें से 97.3 % पानी समुद्र में है, बाकि शेष 2.7 % पानी नदियों, तालाबों और कुँओं में है।

                                                जल है तो जीवन है!!

अब चलते है बुलेटिन  की और ....


                                                           दृष्टिक्षेत्रे

                                     कुम्भा महल और विजय स्तंभ : चितौडगढ़

                                     क्यों गिर रहा है रुपया? (Why Rupee Down)

                                                     फादर्स डे (लघुकथा )

                                                  जन जुड़े, तब विनाश रुके

                                                     गूगल का पहला चेक

                                                     अलादीन का चिराग

                                                        ख़ुशी और सुख

                                                             गुजारिश,

                                          मेरे देश के सैनिक तुम्हें सलाम .........!!


कल फिर मिलेंगे। शुभ रात्रि।

14 टिप्पणियाँ:

मुकेश कुमार सिन्हा ने कहा…

achchhe links...

Ranjana verma ने कहा…

मेरे पोस्ट... मेरे देश के सैनिक तुझे सलाम !! को ब्लॉग बुलेटिन में शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद !!

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

बहुत उम्दा लाजबाब प्रस्तुति,,,मेरी रचना शामिल के लिए आभार
<

Gyan Darpan ने कहा…

शानदार उम्दा प्रस्तुती

वसुन्धरा पाण्डेय ने कहा…

माँ के सपूतों तुझे सलाम...
बहुत सुन्दर प्रस्तुति !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

ज्ञानपरक और सुन्दर पठनीय सूत्र..आभार..

Kartikey Raj ने कहा…

बहुत ही सुंदर लिंक्स दिये है आपने...........

दिगम्बर नासवा ने कहा…

अच्छे सूत्र हैं ...

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत सुंदर लिंक्स, आभार.

रामराम.

sanjay verma"drasthti" ने कहा…

jal hi jivan hai pasand aaya

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

अच्छे लिंक्स

HARSHVARDHAN ने कहा…

आप सबका हार्दिक धन्यवाद।

Pravin Dubey ने कहा…

हर्षवर्धन जी एक गुल्लक ऐसा भी से जुड़ने के लिए धन्यवाद्..

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत ही सुंदर लिंक्स ..मुझे स्थान देने के लिए आभार.हर्शवर्धन जी

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार