Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 8 सितंबर 2017

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस २०१७

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस:- इस साल भी पिछले साल की जेसे ही अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस 2017, शुक्रवार 8 सितंबर को मनाया गया|

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का इतिहास के बारे में जाने
युनेस्को ने 7 नवंबर 1965 में एक ऐसा फैसला किया कि अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस हर वर्ष 8 सितंबर को मनाया जाएगा जोकि पहली बार 1966 से मनाना शुरु हुआ था | हमारे समाज, व्यक्ति और समुदाय के लिये साक्षरता के बड़े महत्व को ध्यान दिलाने के लिये पूरे विश्व भर में इसे मनाना शुरु किया गया। समुदाय में  बच्चे व बड़ो को शिक्षा और साक्षरता की दर को दुबारा से एक बार ध्यान दिलाने के लिये इस दिन को खासतौर पुरे विश्वव में ही मनाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस २०१७ 
हमारे देश में शिक्षा पर वैश्विक निगरानी रिपोर्ट के अनुसार ये ध्यान देने योग्य बात है कि हर पाँच में से एक पुरुष और दो-तिहाई महिलाएँ अनपढ़ है। उनमें से कुछ के पास कम साक्षरता कौशल है, कुछ बच्चों की पहुँच आज भी स्कूलों से बाहर है और कुछ बच्चे स्कूलों में अनियमित रहते हैं। लगभग 58.6% की सबसे कम वयस्क साक्षरता दर दक्षिण और पश्चिम एशिया के नाम है। बुरकिना फासो, माली और नाइजर वो देश है जहाँ सबसे कम साक्षरता दर है।

यह पूरे विश्व में शिक्षा की खास विषय-वस्तु, कार्यक्रम और लक्ष्य से साथ मनाया जाता है। वर्ष 2007 और 2008 में इस दिन की विषय-वस्तु साक्षरता और स्वास्थ्य था (टीबी, कॉलेरा, एचआईवी और मलेरिया जैसी फैलने वाली बीमारी से लोगों को बचाने के लिये महामारी के ऊपर मजबूत ध्यान देने के लिये)। वर्ष 2009 और 2010 का मुद्दा साक्षरता और महिला सशक्तिकरण था जबकि 2011 और 2012 के इस उत्सव का विषय साक्षरता और शांति था।

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस क्यों मनाया जाता है :-
अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस को मनाने का उद्देश्य साक्षरता की दिशा में लोगों का ध्यान खींचना और सामाजिक और मानव विकास के लिए उसके अधिकारों का ज्ञान देना है | सफलता के साक्षरता उतना ही महत्वपूर्ण है जितना जीवित रहने के लिए खाद्य पदार्थ है | यह गरीबी उन्मूलन (poverty), बाल मृत्यु (child mortality) दर को कम करने, जनसंख्या वृद्धि (population growth) को नियंत्रित करने, लैंगिक समानता ( gender equality) की प्राप्ति आदि के लिए भी आवश्यक है | साक्षरता में व्यक्ति को अपनी पारिवारिक स्थिति और देश को अपना दर्जा बढ़ाने की क्षमता है | यह दिन सतत शिक्षा प्राप्त करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने और परिवार , समाज और देश के लिए अपनी जिम्मेदारियों को समझने के लिए मनाया जाता है |

ब्लॉग बुलेटिन टीम और हिन्दी ब्लॉग जगत की ओर से आप सभी को अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |

सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

मैट्रो के डिब्बों में 'आसन व्यवस्था' की नई परिकल्पना !

तर्पण मेरा इस पितृपक्ष मे !!!

माँ दुर्गा के नव-रूप के श्लोक

ठर्रा विद ठाकुरः एवरीबडी लव्स अ गुड बाढ़

जनता फटेहाल...नेता मालामाल

पोंटहा जरदोह

हत्यारा

......पीढ़ियाँ आती रहेंगी :))

स्व ॰ भूपेन हजारिका की ९१ वीं जयंती

गौरी लंकेश की हत्या एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना

गौरी लंकेश हत्याकाण्ड : विरोध या सियासत

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

6 टिप्पणियाँ:

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

सार्थक बुलेटइन और बेहतर लिंक्स!!

पी.सी.गोदियाल "परचेत" ने कहा…

Aabhar Shivam ji.

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ प्रभात..
सारी रचनाएँ अनछुई
आज दिन भर की खुराक
आभार
सादर

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति ।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार