Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 13 जुलाई 2013

चले गए यारी को ईमान कहने वाले ... प्राण साहब - ब्लॉग बुलेटिन

समाचार देखते हुये सूचना मिली कि इस साल के दादा साहेब फालके अवार्ड विजेता अभिनेता प्राण साहब का मुंबई के लीलावती अस्पताल में देहांत हो गया है।

प्राण साहब को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि

एक बार को तो यकीन ही नहीं हुआ लगा एक बार फिर किसी ने झूठी खबर उड़ाई है पर फिर ख्याल आया कि जब हर एक चैनल इस बुरी खबर को प्रसारित कर रहा है तो आज आखिर वो दुखद पल आ ही गया जिस का हम सब को डर था ... जिस खबर से हम सब बच रहे थे वो हर जगह प्रसारित हो रही थी और साथ साथ आती जा रही थी लोगो की श्रद्धांजलियां एक के बाद एक ...

फेसबुक पर आई ऐसी ही कुछ श्रद्धांजलियों को समेट कर हम पूरी ब्लॉग बुलेटिन टीम और पूरे हिन्दी ब्लॉग जगत की ओर से प्राण साहब को शत शत नमन करते है और उनको अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते है !
================================


Bs Pabla

... और प्राण

रहेंगे हर दिल में

बहुत याद आयोगे मलंग चाचा :-(


Lalit Sharma

एक दिन इस मिटने वाली दूनिया से सभी को जाना है, कुछ लोग ऐसे होते हैं जो पाषाण पर अपने कदमों के चिन्ह अंकित कर जाते हैं और युगों युगों तक जमाना याद रखता है ऐसे ही प्राण साहब थे। आज उनके स्वर्गप्रयाण का समाचार मिला। ईश्वर उन्हे अपनी शरण में ले और परिजनों, इष्ट मित्रों सहित उनके चाहने वालों को दारुण दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करे। विनम्र श्रद्धांजलि………… तुम बहुत याद आओगे।


अजय कुमार झा

ओह ! प्राण .............पखेरू उड चले — feeling sad.


सलिल वर्मा

उनके साथ मैं शेयर करता था अपना जन्मदिन...
उनको एडमायर करता था मैं हमेशा...
उनका सिगरेट के धुएं के छल्ले बनाना मुझे हमेशा मेरे सिगरेट न पीने की आदत का ताना देता था...
आज उन्होंने अपनी आख़िरी अदाकारी दिखाई...
मौत की एक्टिंग... मरने की एक्टिंग... इतनी जीवंत कि हर कोई रो पड़ा...
बरखुरदार!! माटी का चोला उतारकर कहाँ चल दिए... अकेले वो भी ९३ साल की उम्र में!!
कब से मिस कर रहे थे आपको प्राण साहब.. आब ताउम्र मिस करेंगे, आपकी अदाओं को!!


Kajal Kumar

प्राण को वि‍दाई. RIP.


अरुणा सक्सेना

निष्प्राण हुए 'प्राण' ...................श्रधांजली..............


Aradhana Chaturvedi

हम अलविदा नहीं कहेंगे...आपको हमेशा याद रखेंगे... जब तक हिंदी सिनेमा है, आप हमारे साथ रहेंगे...
आपसे नफ़रत करेंगे, आपके साथ रोयेंगे और आपको देखकर हसेंगे...
हम आपके हर रूप से प्यार करेंगे...


Suresh Sharma Cartoonist

हमारे चहेते प्राण साहब नहीं रहे ..श्रधांजलि !


Dileep Tiwari Bharteey

बर्खुरदाररर... :( RIP Pran Sahab


Govind Goyal

हम जहां हैं उस जगह नाचेगी झूमेगी खुशी.....यारी है ईमान मेरा यार मेरी जिंदगी


Tushar Raj Rastogi

आज हमारे बीच हिन्दुस्तानी फ़िल्मी जगत के दिग्गज कलाकार श्री प्राण साब नहीं रहे | मेरा दिल दुःख से अत्यंत विचलित है | दुःख की घडी है | मेरी समस्त सदभावनाएँ और हार्दिक श्रद्धांजलि उनके परिवार के साथ हैं | ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें और घर के सदस्यों तथा उनके मेरे जैसे प्रशंषकों को यह दुःख बर्दाश्त करने का हौसला प्रदान करें | प्राण साब अमर रहें |

Prashant Priyadarshi

होगा मसीहा सामने तेरे फिर भी ना तू बच पाएगा
तेरा अपना खून ही आखिर तुझको आग लगाएगा
होगा मसीहा सामने तेरे ...

दिनेशराय द्विवेदी

प्राण दद्दा को श्रद्धांजलि।

 
जाने माने बोलीवुड एक्टर............प्राण का निधन
क्या फिल्म इंडस्ट्री को मिल पाएगा..फिर ऐसा धन

Atul Shrivastava

नहीं रहे बॉलीवुड के प्राण!!!!
श्रद्धासुमन.....



Rashmi Ravija

कसमे वादे प्यार वफ़ा
सब बाते हैं, बातों का क्या

हर दिल अज़ीज़ प्राण भी हमारे प्यार की डोर तोड़ चले गए
विनम्र श्रद्धांजलि
 
 
 
विनम्र श्रद्धांजलि।

टीवी खोला तो जाना-प्राण नहीं रहे। जानता था बीमार हैं, जाना है उनको मगर फिर भी अजीब सी कसक हुई। याद आ गया, वो किसी दोस्त के साथ देखी अपनी पहली फिल्म जंजीर का प्राण.. यारी है ईमान मेरा, यार मेरी जिंदगी...। धीरे-धीरे जाना कि प्राण कितने बड़े कलाकार हैं। अब, उनके जाने के बाद तो ....। दरअसल यह इंसानी फ़ितरत है कि जब कोई चला जाता है तभी हम उसके प्रति सच्चे हृदय से, पूर्ण सकारात्मक हो पाते हैं, यही सकारात्मक सोच हमें किसी की अच्छाइयों से रू-ब-रू कराती है वरना हमने इतनी नकारात्मकता भर ली है अपने भीतर की हमे भला इंसान भी ड्रामेबाज नजर आता है। एक विलेन का चरित्र अभिनेता के रूप मे उभरना, हर चरित्र को ऐसे जीना कि नायक भी मानने लगे कि यदि प्राण न होते तो फिल्म हिट न होती, उनके अभिनय का चमत्कार नहीं है तो और क्या है! हम क्या, नहीं भूल पायेगी इस महान कलाकार को आने वाली कई पीढ़ियाँ। प्राण के द्वारा अभिनीत किये गये फिल्मों को लगातार बस याद करते चले जांय तो हम हिंदी सिनेमा के इतिहास और निरंतर बदलते भारतीय समाज के चरित्र से वाकिफ हो सकते हैं।
काम अगर यह हिंदू का हे,मंदिर किस ने लूटा हे....मुसलिम का हे काम अगर यह...खुदा घर क्यो टुटा हे...जिस मजहब मे जायज हे वो मजहब तो झूठा हे.... कसमे वादे प्यार वफ़ा सब.... बाते हे बातो का क्या
जब बहुत छोटा था तो प्राण साहब की फ़िल्म देख कर दिल मे गुस्सा आता था, बहुत नफ़रत करता था, फ़िर पिता जी ने समझाया कि यह आदमी तो सिर्फ़ अभिनय कर रहा हे, असल जिंदगी मे ऎसा नही होगा, ओर हमे तो इस का अभिनय देख कर इस की तारीफ़ करनी चाहिये कि अपने अभिनय मे यह जान डाल देता हे, ओर फ़िर जैसे जैसे बडा हुआ प्राण साह्ब के अभिनय को, उन की मेहनत को समझने लगा, फ़िर उन्हे दिल से चाहने लगा, बहुत बाद मे पता चला कि प्राण साहब मेरे मॊसा के दोस्त रहे हे.
आज मन उदास हो गया उन के बारे सुन कर, लेकिन जाना तो सब ने हे एक दिन....
भगवान उन्हे शांति दे...

सच कहूँ ..बचपन में देखी गई फिल्मों में प्राण साहब को देखकर सचमुच डर लगता था । यह बाद में पता चला कि उन तमाम दशकों में माता -पिता ने अपने बच्चों का नाम प्राण नहीं रखा । इस महान कलाकार को विनम्र श्रद्धांजलि ।

अभी-अभी सूचना मिली है कि दादा साहेब फालके अवार्ड विजेता अभिनेता प्राण साहब का मुंबई के लीलावती अस्पताल में देहांत हो गया है।

प्राण साहब को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि |


 ================================
अंत मे प्राण साहब की वेबसाइट मे उनके एक फैन द्वारा लिखी एक कविता का जिक्र है उसी को यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ !!

वो आवाज़ का जादू या गर्मी हो लहजे की
वो अन्दाज़ निराला हो या चमक हो चेहरे की
हम किसको करेँ याद और किसको भुलाएँ
तुम्हेँ देखते हैँ जितना , उतना तुम्हेँ चाहेँ
हर बात तुम्हारी यूँ औरोँ से है जुदा
जैसे फ़लक पे चाँद सितारोँ से है जुदा
हैँ आज भी दुनिया मेँ फ़नकार बहुत अच्छे
आगे तुम्हारे लगते हैँ लेकिन सभी बच्चे
आज बस जिस्म के चर्चे हैँ जान नहीँ है
सब कुछ है सिनेमा मेँ मगर 'प्राण' नहीँ है
यूँ ही सदा हँसते रहो न तुम्हेँ हो कभी ग़म
है दुआ हमारे बीच रहो ऐसे ही तुम हर दम

आयुष 'चराग़
'





 

16 टिप्पणियाँ:

Shalini Kaushik ने कहा…

bahut sarthak prastuti .pran sahab ko shat shat naman

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

जिंदगी का सफ़र है ये कैसा सफ़र कोई समझा नहीं कोई जाना नहीं | दिलों में रहेंगे सदा बनके याद | कभी आंसू बन कर कभी मुस्कराहट बन कर | प्राण साब को भावभीनी श्रद्धांजलि |

संजय भास्‍कर ने कहा…

प्राण साहब को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि |

वाणी गीत ने कहा…

श्रद्धांजलि !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

श्रद्धांजलि..

Anupama Tripathi ने कहा…

Vinamra shraddhanjali ........

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

प्राण साहब को नमन व विनम्र श्रद्धांजलि.

रामराम.

ARUN SATHI ने कहा…

moti.....pram sahan ko naman

sadhana vaid ने कहा…

प्राण साहेब को हार्दिक श्रद्धांजलि ! उन जैसे कलाकार कई युगों के बाद पैदा होते हैं और अपनी तरह के एक ही होते हैं ! ऐसे अद्वितीय, अविस्मरणीय, विलक्षण व्यक्तित्व को शत-शत नमन !

vandana gupta ने कहा…

विनम्र श्रद्धांजलि |

HARSHVARDHAN ने कहा…

जिस तरह एक ताज महल है, एक दिलीप कुमार है, एक लता मंगेशकर है!! ठीक उसी तरह एक प्राण है।। प्राण साहब को नम आँखों से भावभीनी श्रद्धांजलि।।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

प्राण साहब को विनम्र श्रद्धांजलि ..... आपकी यह पोस्ट अच्छी लगी

Aditi Poonam ने कहा…

प्राण साहब को हार्दिक श्रध्हासुमन....

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

vibha rani Shrivastava ने कहा…

बहुत बहुयामी प्रतिभा के धनी थे प्राण साहब
प्राण साहब को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि

vibha rani Shrivastava ने कहा…

बहुत बहुयामी प्रतिभा के धनी थे प्राण साहब
प्राण साहब को शत शत नमन और विनम्र श्रद्धांजलि

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार