Subscribe:

Ads 468x60px

गुरुवार, 4 अप्रैल 2013

छत्रपति शिवाजी महाराज की जय - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,
प्रणाम !
 
आज छत्रपति शिवाजी महाराज की ३३३ वीं पुण्यतिथि है ... सन १६८० मे आज ही दिन लगभग तीन सप्ताह की बीमारी के बाद शिवाजी महाराज की मृत्यु हुई थी !
(यहाँ जो चित्र दिया जा रहा है वो ब्रिटीश म्यूजियम स्थित शिवाजी महाराज का असली चित्र है)
बोलो छत्रपति शिवाजी महाराज की ...
जय !!!
सादर आपका
शिवम मिश्रा
========================

अब छलावा लगने लगा है केजरीवाल का संघर्ष

अतीतजीवी

"चूहा दिवस" पर विशेष .................."

जीत ही जाते हैं हम

दो वर्ष पूरे ...

क्या वो फिर आयेगा? इस सवाल का ज़वाब तो समय देगा

नन्हा "रियाज़"

पहली हवाई यात्रा

तेरे ही आने वाले महफ़ूज 'कल' की ख़ातिर...

आँसू...

यादों के पन्ने पलटते ,राजेश उत्साही जी, ममता कुमार और हम भी :)

 ========================

अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

9 टिप्पणियाँ:

jyoti khare ने कहा…

छत्रपति शिवाजी को नमन
बहुत सार्थक प्रस्तुति
सुंदर संग्रह
संयोजन की बधाई

जयदीप शेखर ने कहा…

जिनके पूर्वज शिवाजी महाराज रहे हों, उस कौम को आज क्या जो हो गया है, समझ में नहीं आता. न शौर्य है, न चरित्र और न ही ज्ञान!

खैर, शिवाजी माहारज को नमन.

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

कम ही लोग होंगे जो उनकी इस जयन्ति दिवस पर उन्हें याद कर पाये होंगे । उन्हें नमन और आपके प्रशंसनीय प्रयास को भी.

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

छत्रपति शिवाजी महाराज को उनकी ३३३ वीं पुण्यतिथि पर शत शत नमन और आपको धन्यवाद हमें याद दिलाने के लिए ....
मेरे पोस्ट को ब्लॉग-बुलेटिन में स्थान देने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया और आभार भाई ....
शुभकामनायें भाई ....

DrZakir Ali Rajnish ने कहा…

शिवम भाई, समयानुकूल सार्थक विषय चुनने में आपका जवाब नहीं। सचमुच भारतीय इतिहास में जो काम शिवाजी ने किया, वह और कोई नहीं कर पाया। उनकी उस ऐतिहासिक भूमिका के लिए हार्दिक नमन।

जैसा कि आप परिचित ही होंगे कि ब्‍लॉग जगत के लिए डॉयचे वेले, जर्मनी से दिये जाने वाले अन्‍तर्राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार के लिए 'हिन्‍दी का सर्वश्रेष्‍ठ ब्‍लॉग' श्रेणी के नामांकन में चुने गये 10 ब्‍लॉगों में तस्‍लीम एवं सर्प संसार के नाम शामिल (सर्प संसार एक अन्‍य श्रेणी 'सबसे रचनात्‍मक' में भी शामिल) हुए है। इन दोनों ब्‍लॉगों ने यह दर्जा अपने कंटेंट एवं आप सबके प्‍यार की बदौलत पाया है। लेकिन चूंकि अब फाइनल वोटिंग शुरू हो गयी है, इसलिए इस बढ़त को निर्णायक मोड तक पहुंचाने के लिए आपके स्‍नेह/आशीर्वाद की भी नितांत आवश्‍यकता है। कृपया 'तस्‍लीम' एवं 'सर्प संसार' के प्रति अपने प्‍यार को ऐतिहासिक बनाने के लिए अपना वोट एवं सपोर्ट प्रदान करने की कृपा करें। इस सम्‍बंध में विस्‍तृत जानकारी मेरी दुनिया मेरे सपने पर उपलब्‍ध है।

Maheshwari kaneri ने कहा…

छत्रपति शिवाजी को नमन
बहुत सार्थक प्रस्तुति....मेरे पोस्ट को ब्लॉग-बुलेटिन में स्थान देने के लिए आभार ..

rashmi ravija ने कहा…

शुक्रिया शिवम्
बढ़िया लिंक सहेजे हैं

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत सुन्दर सूत्र, वीर को नमन।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार