Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

सोमवार, 12 फ़रवरी 2018

जियो ... खूब जियो ... सलिल भाई



ब्लॉग से फेसबुक, फेसबुक से मोबाइल, मोबाइल से वाट्सएप्प ... मिले मुझे सलिल भाई . विनम्रता, स्पष्टता, शालीनता से सामना होता रहा और दिल से दुआएँ निकलती रहीं . अब जब आज जन्मदिन है तब तो सर पर हाथ रखना ही है और कहना है ... खुदा दिलजलों की नज़र से बचाए, फिर भी दिलजले आ ही जाएँ राह में तो मुझसे बचाए .
हाल में सलिल भाई ने एक लिंक भेजा, और मैं हेमंत कुमार की आवाज़ में खो गई , आप इतना सोचिये मत, सुन ही लीजिये




सलिल भाई के लेखन के कायल तो हम रहे ही, अभिनय और गायन में भी वे मंजे हुए हैं  ... जिन्होंने नहीं देखा हो, उनको देखना चाहिए




गीतों, रचनाओं, और बेजोड़ कलाकारी की जन्मदिन पार्टी है , आज सबलोग इस बिहारी के रंग में रंग जाइये , बिल्कुल होली के रंगों की तरह , आइये बढ़ते जाइये





अब इनकी कलम 

चलते चलते कुछ बातें अपने लिए स्वयं सलिल भाई की कलम से -

मेरी फ़ोटो
हमरा नामः सलिल वर्मा,वल्दः शम्भु नाथ वर्मा,साकिनः कदम कुँआ, पटना,हाल साकिनः भावनगर, गुजरात हम तीन माँ के बेटा हैं,बृज कुमारी हमको जनम देने वाली,पुष्पा अर्याणी हमरे अंदर के कलाकार को जन्म देने वाली,अऊर गंगा माँ जिसके गोदी में बचपन बीता अऊर कॉलेज (साइंस कॉलेज/पटना विश्वविद्यालय) की पढाई किए.बस ई तीन को निकाल लिया तो हम ही नहीं रहेंगे...

7 टिप्पणियाँ:

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

बधाई स्वीकारें, सपरिवार

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

ढेरों शुभकामनाएं सलिल जी को जन्मदिन पर।

Meena sharma ने कहा…

आदरणीय सलिल जी का ब्लॉग पढ़ती रही हूँ। उन्हें जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनाएँ।

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

प्रणाम करता हूँ दीदी!

कविता रावत ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति
आदरणीय सलिल जी के साथ ही रश्मि दी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

सलिल दादा को सादर प्रणाम सहित जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं |

Sadhana Vaid ने कहा…

अरे वाह ! रश्मि प्रभा जी ! सलिल जी के बहुआयामी व्यक्तित्व से परिचित कराने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया ! सच में चमत्कृत हूँ ! अभिनय गायिकी, लेखन सबमें माहिर हैं सलिल भाई ! क्या बात है ! उन्हें तहे दिल से प्रणाम एवं जन्मदिवस की अनंत अशेष शुभकामनायें !

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार