Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

गुरुवार, 8 नवंबर 2012

क्यूँ कि तस्वीरें भी बोलती है - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,
प्रणाम !

आज का विचार आपको एक चित्र के माध्यम से बताता हूँ ... क्यूँ कि तस्वीरें भी बोलती है - शर्त बस इतनी है ... उस चित्र के बारे मे ... और उस मे दिये संदेश के बारे मे आपके जो विचार हो वो जरूर दें !

सादर आपका 


==========================

आज सिर्फ हैडलाइन्स :- 

हँसी के रूप

{ २११ } जख्म गहरे-गहरे हैं 

संदेश

साइकिल फिर खराब

ख्वाबों की तो जात ही है टूट जाने की

एक कदम हौसले का ...!!!

आज तक टीवी एंकरिंग सर्टिफिकेट कोर्स, सिर्फ 3950 रुपए में

जोधपुर किला (मेहरानगढ दुर्ग) Jodhpur Fort, (Mehrangarh )

श्रद्धांजलि : संजीव कुमार

तस्वीरें

पूर्णिमा का चाँद

==========================

अब आज्ञा दीजिये ... 

 जय हिन्द !!!

11 टिप्पणियाँ:

Akash Mishra ने कहा…

अच्छे लिंक्स का संग्रह |

हंसी के रूप और ख़्वाबों की तो जात ही है टूट जाने की विशेष पसंद आये |

सादर

मुकेश कुमार सिन्हा ने कहा…

headlines me hi sab aa gaya:)

vandan gupta ने कहा…

बढिया बुलेटिन

अजय कुमार झा ने कहा…

सच में जो शब्द भी नहीं कह पाते वो तस्वीरें कह जाती हैं ।
लिंक्स सब के सब उम्दा हैं । बढिया बुलेटिन शिवम भाई ।

नीलिमा शर्मा ने कहा…

धन्यवाद ..... तहे दिल से आपकी आभारी हूँ कि आपने मेरी कविता :"हँसी के कई रूप " को शामिल किया . बाकि लिंक्स भी बहुत ही उच्च स्तरीय हैं .....नमन शिवमजी

सदा ने कहा…

बेहतरीन लिंक्‍स संयोजित किये हैं आपने ...आभार

shikha varshney ने कहा…

तस्वीरें बहुत कुछ कह जाती हैं. बढ़िया लिंक्स.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर सूत्र

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

Unknown ने कहा…

बहुत बेहतरीन लिंक्‍स

HARSHVARDHAN ने कहा…

पहली बार मेरी पोस्ट को "ब्लॉग बुलेटिन " में शामिल करने के लिए आपका बहुत - बहुत धन्यवाद ।

टिप्पणी पोस्ट करें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार