Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 10 जुलाई 2016

सिनेमा का गाना और ताऊ की कमेंट्री - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

एक बार ताऊ फिल्म देखण गया, फिल्म का नाम था बॉबी, अर गाणा चाल रया था, "मैं मायके चली जाऊंगी"।

Dimple: मैं मायके चली जाऊंगी, तुम देखते रहियो।

ताऊ: न्यू क्यूकर चली ज्यागी, यो तेरी टांग ने तोड़ देगा।

Rishi Kapoor: मैं दूजा ब्याह रचाउंगा

ताऊ: येह्ह्ह्ह बात .. छोरे ने कट्या रोग

Dimple: मैं कुवें में गिर जाउंगी।

ताऊ: छोरे बहकाए में मत आ ज्याइये .. पाखण्ड कर रिह सै।

Rishi Kapoor: मैं रस्सी से खिंचवाऊंगा।

ताऊ: अरे क्या ने खिंचवावे सै..... आगे फेर सेधेगी।

Dimple: मैं पेड़ पर चढ़ जाउंगी।

ताऊ: टंगी रहन्दे सासु की नै।

Rishi Kapoor: मैं आरी से कटवाऊंगा

ताऊ: अरे तू भी मैंने तो किमे नकली सा ए लाग्या... खामखाँ अपनी बुआ नै सिर पै चढ़ा रया सै।

Dimple: मैं मायके नहीं जाउंगी, मैं मायके नहीं जाउंगी।

ताऊ: तावलिये होश ठिकाणे आगे...
 
अब यह तो हुई ताऊ की बात ... इब अपन चालन लाग रए आज री बुलेटिन की ओर ...
 
सादर आपका

9 टिप्पणियाँ:

Jyoti Dehliwal ने कहा…

शिवम् जी, मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

Jyoti Dehliwal ने कहा…

शिवम् जी, मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

बढिया बुलेटिन, ताऊ तो एक नम्बर है।

Sushil Bakliwal ने कहा…

धन्यवाद इन चयनित पोस्ट में मेरी ब्लॉग पोस्टिंग को भी स्थान देने के लिये...

Ram Lakhara ने कहा…

बढिया बुलेटिन! धन्यवाद! चयनित पोस्ट में मेरी ब्लॉग पोस्टिंग को स्थान देने के लिये.

Kavita Rawat ने कहा…

ताऊ की कमेंट्री के साथ सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!


Jayanti Prasad Sharma ने कहा…

मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यबाद।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति ।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार