Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 27 मई 2016

इज्जत और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।

मैने एक बुजुर्ग से पूछा - आज के समय में सच्ची इज्जत किसकी होती है...? 

बुजुर्ग ने जवाब दिया - इज्जत किसी इंसान की नहीं होती,जरुरत की होती है...."जरुरत ख़त्म तो इज्जत ख़त्म!"🙏

अब चलते हैं आज कि बुलेटिन की ओर...

मज़बूरी कैसी कैसी --

मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के दो साल

सोच बदलो , देश बदलो

Successful Blogger बनने के लिए 6 जबरदस्त Tips

भारतवाणी - भारतीय भाषाओँ में ज्ञान सामग्री संग्रह

सेंसर बोर्ड की गरिमा का ख्‍याल तो करें

नेता, अधिकारी और राजनीति

वामन वृक्ष

कवि के अनकहे को पहचानना जरूरी है

छितराए बादल

छोटे लोग, ओछे लोग


आज कि बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

4 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति ।

Asha Saxena ने कहा…

उम्दा बुलेटीन |मेरी पोस्ट के लिए आभार सहित धन्यवाद हर्ष जी |

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

उन बुजुर्ग मे सही बात बताई ... :)

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार