Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 19 नवंबर 2011

रोज़ ना भी सही पर आप पढ़ते रहेंगे - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !

४ दिनों से शहर से बाहर गया हुआ था इस लिए आप लोगो से मिलना नहीं हो पाया ... वैसे हमारी बुलेटिन टीम के देव बाबु ने अपना पहला बुलेटिन लगा कर ब्लॉग बुलेटिन और आप सब की मुलाकात जरुर करवाई ... यहाँ एक बात मैं साफ़ करना चाहूँगा कि हर ब्लॉगर की तरह हमारी पूरी टीम भी यही चाहती है कि ब्लॉग बुलेटिन की पोस्ट रोज़ लगा करें ... रोज़ हम लोग एक नयी पोस्ट ले कर आयें और आप सब को पढने के लिए नए नए लिंक मिले ... पर हमेशा ऐसा हो नहीं पता ... कारण एक ही है ... चाहे आप हो या हम ... हम सब की अपनी अपनी अलग अलग जिम्मेदारियां है जिन का सही समय पर पूरा होना उतना ही जरुरी है जितना सही समय पर बुलेटिन का लगना ... ;-) 


इस लिए अब सीधे चलते है आज की बुलेटिन की ओर ...


सादर आपका 

==========================================================================


*दुर्गा की अवतार*** *श्रीमती इन्दिरा गांधी को*** *उनके 97वें जन्म दिवस पर*** *शत्-शत् नमन।*** *इन्दिरा प्रियदर्शिनी फिर से, आओ मेरे भारत में।*** *दूरदृष्टि के मन्तव्यों को, लाओ मेरे भारत में।।*** *आज वतन ... 

दिन इक के बाद एक गुजरते हुए देख इक दिन तो अपने आप को मरते हुए देख हर वक्त खिलते फुल की जानिब तका न कर मुरझा के पत्तियों को बिखरते हुए भी देख पैवंद बादलों के लगे देख जा ब-जा बगलों को आसमान कुतरते हुए भी देख...

ये सरकार किसी की सगी नहीं है एक विदेशी द्वारा स्थापित हुई और आज भी एक विदेशी द्वारा ही संचालित है, फिर इससे देशभक्ति की उम्मीद करना ही व्यर्थ है देश के विकास, भाईचारे और शान्ति बनाए रखने से इनका कोई सरोक...

"क्यों साहब! ये 'चैमेस्ट्री' डिपार्टमेंट कहाँ है?" "क्या बोल रहे हो? 'चैमेस्ट्री' नहीं 'कैमेस्ट्री' होता है। यही है कैमिस्ट्री डिपार्टमेंट। बोलो क्या काम है?" " तो साहब 'कोपड़ा साहब' कहाँ मिलेंगे?"

जानती हूँ चाहते हो तुम भी अहिल्या बन जाऊँ मैं भी तुम्हारे श्राप से श्रापित हो और जीवित पाषाण बन तुम्हारे दंभ की आहुति बन भोग्या सामग्री सम जीवन यज्ञ में पाषाण को अमरत्व प्रदान करूँ मगर मूक बधिर की भांति...

कल अचानक मेरी निगाह दैनिक जागरण और प्रभात खबर में प्रकाशित इस खबर पर पडी कि ब्लॉग अकादमी हेतु तैयारियां शुरू हो गयी है और यह वेहद ख़ुशी की बात है कि इसके प्रारूप पर मधेपुरा के ब्लॉगर और प्रखर साहित्यकार ...   

मातम मनाऊं कि तुम्हें ना मेरी फिक्र, न ज़रूरत, ना चाहत या कि फ़ख्र करूं कि कुछ लम्हों को ही सही मगर तुमने मुझे टूट कर चाहा था और मैं मुतमईन हूं ये सोच कर कि उन चंद लम्हों में मेरे सिवा किसी का ख़याल तक ...  

*उजड़ी-उजड़ी, * *बिखरी गुमसुम सी * *वह बगिया जिसमें,* *फूलों की चाहत में * *मिलकर बोये थे,इने-गिने * *बीज हम दोनों ने कभी , * *पता नहीं शूल कैसे उग गए वहाँ ! * *यूं तो उन्हें अब * *अमूमन उपेक्षित ही रखता ...

बुधवार* *सुबह ऐश्वर्या राय ने बच्चन परिवार के नौंवे सदस्य को जन्म दिया और अब लगभग सारे डॉक्टर उनकी तारीफ कर रहे हैं। दरअसल, यह माना जाता है कि 32-33 साल के बाद पहला बच्चा सामान्यत: नॉर्मल नहीं, सिजेरियन ...

*फ़ुरसत में … * *समृद्ध कानपुरः भीतरगाँव का मन्दिर* *हरीश प्रकाश गुप्त* [image: bhitargaon_carved bricks]आज कानपुर उत्तर भारत का प्रमुख औद्योगिक केन्द्र है। स्वतंत्रता आन्दोलन की चिन्गारी भी यहीँ से ...  

कस्‍बों और छोटे शहरों,
दुकानों में भी दिख रही हैं आजकल
काम करती हुई
कमसिन, सुंदर, अविवाहित लड़कियाँ।
आज, 19 नवम्बर को - उम्मीद है... वाले सुबोध राय, - टोला, अनुभव वाले गिरीन्द्रनाथ झा - बिगुल वाले राजकुमार सोनी - पहाड़ी बाबा वाले राजीव माहेश्वरी का जनमदिन है बधाई व शुभकामनाएँ
इक संगोष्ठी और 'सरहद से...' मनोहरलाल बाथम का काव्य संग्रह ...... ऊपर की पंक्ति में श्री बी के सिंह, सीमा सुरक्षा बल के उपमहानिरीक्षक श्री ए के शर्मा , प्रो.प्रेमलता (अध्यक्ष हिंदी विभाग ,विक्रम ...
माइक्रोसॉफ्ट का एक मुफ्त टूल जो आपके वायरस से ग्रस्त कंप्यूटर को ठीक करने में आपकी मदद करेगा । । इस टूल का नाम है Microsoft Safety Scanner और ये एक पोर्टेबल टूल है इसलिए इसे इंस्टाल करने की भी जरुरत नहीं ...
* * * * *कल शाम को जब मैं मुम्बई से सूरत आ रहा था तो मेरे सामने की सीट पर * *मेरी ही उम्र का एक व्यक्ति, अपेक्षाकृत कम उम्र की और ज़बरदस्त खूबसूरत * *महिला के साथ बैठा था और लगातार मुझे देखे जा रहा ...
एक विवाह का कार्यक्रम चल रहा है। तरह-तरह के जूस और सॉफ्ट ड्रिंक वितरित किए जा रहे हैं। पाइनेपल जूस, मिक्स फ्रूट जूस, ऑरेंज जूस...। कोलाज, स्कवेश और सोडा भी हैं। दो-तीन बच्चे वहाँ बैठे हैं। फलों के रस और ...
ऑफ़िस से आते समय थोड़ा पहले ही घर के लिये उतरना पड़ा तो सिग्नल पर एक आदमी टकराया और बोला “हैलो… हिन्दी आता है क्या?” हमने उसे ऊपर से नीचे तक देखा और चुपचाप चल दिये कि जैसे अपने को नहीं किसी और को बोला ...
आजकल कुछ शब्द लोग बड़ी वजनदारी और धड़ल्ले से बेझिझक इस्तेमाल करते हैं. ऐसा ही एक शब्द है - 'मल्टी टास्कर'. एक समय में एक से अधिक कार्य पूरी क्षमता और लगन से कर पाने की कला. नौकरी के लिए जितने आवेदन आते हैं...
राजस्थान की भंवरी देवी का किस्सा आज मीडिया के लिए ही नहीं आमजन के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है | यूँ तो इस घटना के कई पक्ष हो सकते हैं पर मैं जिस विषय पर बात करने जा रही हूँ वो है आज के समय में महिलाओं ...       

*-अजय ब्रह्मात्मज* हिंदी फिल्मों के धुआंधार और आक्रामक प्रचार में इन दिनों निर्माता-निर्देशक और स्टार बहुत रुचि ले रहे हैं। नया रिवाज चल पड़ा है। रिलीज के पहले फिल्म के स्टारों के साथ इवेंट और गतिविधिय...

२००७ में मैंने ब्लोगिंग शुरू की - हिंदी में लिखने का सुझाव दिया संजीव तिवारी जी ने , और इस तरह एक परिचय हुआ उनसे . मेरी रचना जो हिंदी में ब्लॉग जगत के सामने आई ' अद्भुत शिक्षा ', उसे लोगों के सम्मुख ...

==========================================================================

   

और अब एक ख़ास खबर ... 

जैसा कि मैंने बताया मैं यात्रा पर था ... इस बीच पाबला जी का फोन आया ... उन से मालुम हुआ कि ब्लॉग बुलेटिन के शुरू होने के ४ दिनों के अन्दर ही आप सब के आशीर्वाद से इस ब्लॉग ने अपनी छाप छोडनी शुरू कर दी हैं ... नीचे दिया जा रहा चित्र और यह लिंक आपको सब बता देगा ...  

बस ऐसे ही अपना स्नेह बनायें रखें ... और हम लाते रहेंगे आपके लिए ब्लॉग बुलेटिन ... 

जय हिंद !! 

16 टिप्पणियाँ:

मनोज पाण्डेय ने कहा…

आपके ब्लॉग बुलेटिन अच्छे हैं,हर बड़े काम के लिए किसी न किसी को तो आगे आना ही पड़ता है.

कुमार राधारमण ने कहा…

क्या ऐसी कोशिश की जा सकती है कि इस ब्लॉग पर केवल उन पोस्टों को जगह दी जाए जो सर्वाधिक पढ़े गए की लिंक में शामिल नहीं हैं ताकि बहुत पढ़े जा रहे लोग अन्यों को भी पढ़ सकें?

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत सार्थक एवं उम्दा प्रयास...अनेक शुभकामनाएँ.

रश्मि प्रभा... ने कहा…

भाग दौड़ में ब्लॉग बुलेटिन की रफ़्तार निष्पक्ष है ...

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

चलिए आपके यहाँ आने से कई नए ब्लॉग देखने को मिले ....
आभार .....

शिवम् मिश्रा ने कहा…

@ कुमार राधारमण जी ... जो मुद्दा आपने उठाया है ... यकीन जानियेगा ... वो हर एक चर्चाकार के दिल और दिमाग में होता है जब भी वो एक नयी ब्लॉग चर्चा बना रहा होता है ... पहले जब चिट्ठाजगत और ब्लोगवाणी थे तब नए ब्लोगस को खोज निकालने बहुत आसान था ... ख़ास कर चिट्टाजगत की रोज़ आने वाली ईमेल भी आपको नए नए ब्लोगस की जानकारी दे दिया करती थी ... पर अब काफी दिक्कत रहती है नए ब्लोगस की जानकारी पाने में ... इस लिए ही हम लोगो ने एक ईमेल बनाया है जिस पर नए पुराने हर प्रकार के ब्लॉगर अपनी अपनी पोस्टो की जानकारी हमें दें ... हम उस जानकारी के आधार पर उनकी पोस्टो को बुलेटिन में शामिल करेंगे !

अपने ब्लॉग की नयी पोस्ट की जानकारी हमें यहाँ दें :- bulletinofblog@gmail.com

फिर भी मैं आपको यकीन दिलाना चाहूँगा कि हम सब हर नए - पुराने ब्लॉगर को ज्यादा से ज्यादा हिट्स दिलवाना चाहते है ... ताकि हिंदी ब्लोगिंग का उसका सफ़र चलता रहे ... बार बार ... हर बार ... लगातार !

AlbelaKhatri.com ने कहा…

waah ! pahli baar aaya yahan parantu...........man reejh gaya

meri posat ko sthan dene ke liye alag se dhnyavad !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया लिंको से सजाया है आपने इस बुलेटिन को!

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बड़ी अच्छी पहल है ब्लॉग बुलेटिन शिवम् जी ....बधाई

अच्छे लिनक्स संजोये हैं ...मुझे शामिल किया आभार ....

वन्दना ने कहा…

बहुत बढिया लिंक्स से सजाया है ब्लोग बुलेटिन को……………बहुत सुन्दर प्रयास्…………हमारी शुभकामनाये है आपके साथ्।

मनोज कुमार ने कहा…

प्रयास अच्छा लगा।

Atul Shrivastava ने कहा…

बढिया लिंक।
शुभकामनाएं......

अशोक बजाज ने कहा…

सराहनीय प्रयास के लिए " ग्राम चौपाल " की ओर से साधुवाद .

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

बी एस पाबला BS Pabla ने कहा…

लिंक्स का चुनाव बढ़िया है

अब शिखा जी कुछ (गूगलिया) मर्ज़ बताए तो दवा की जाए

ZEAL ने कहा…

ब्लौग बुलेटिन का प्रयास सराहनीय है. अच्छे लिंक्स मिले-आभार.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार