Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 26 मार्च 2017

महादेवी वर्मा और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।
महादेवी वर्मा (अंग्रेज़ी:Mahadevi Verma, जन्म: 26 मार्च, 1907, फ़र्रुख़ाबाद - मृत्यु: 11 सितम्बर, 1987, प्रयाग) हिन्दी भाषा की प्रख्यात कवयित्री हैं। महादेवी वर्मा की गिनती हिन्दी कविता के छायावादी युग के चार प्रमुख स्तंभ सुमित्रानन्दन पन्त, जयशंकर प्रसाद और सूर्यकान्त त्रिपाठी निराला के साथ की जाती है। आधुनिक हिन्दी कविता में महादेवी वर्मा एक महत्त्वपूर्ण शक्ति के रूप में उभरीं। महादेवी वर्मा ने खड़ी बोली हिन्दी को कोमलता और मधुरता से संसिक्त कर सहज मानवीय संवेदनाओं की अभिव्यक्ति का द्वार खोला, विरह को दीपशिखा का गौरव दिया, व्यष्टिमूलक मानवतावादी काव्य के चिंतन को प्रतिष्ठापित किया। महादेवी वर्मा के गीतों का नाद-सौंदर्य, पैनी उक्तियों की व्यंजना शैली अन्यत्र दुर्लभ है।

(साभार : http://bharatdiscovery.org/india/महादेवी_वर्मा)

आज महान कवियित्री महादेवी वर्मा जी की 110वीं जयंती पर हम सब उन्हें शत शत नमन करते है। सादर।।

अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर...

मुख्य मंत्री योगी की प्राथमिकताएं

गरमी की गरमाहट

EVM का पहली बार कब इस्तेमाल हुआ?

सोसल मीडिया की मजदूरी

नीला आकाश सफेद बादल

दृष्टिगत प्रेम' प्रेम नहीं था

प्राकृतिक अभियंता

किसान का पैगाम


आज की बुलेटिन में सिर्फ इतना ही कल फिर मिलेंगे, तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

4 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

महादेवी वर्मा जी की 110वीं जयंती पर उन्हें नमन। सुन्दर प्रस्तुति।

Anita ने कहा…

महादेवी वर्मा जी की एकसौ दसवीं जयंती पर सादर नमन.. बधाई सुंदर सूत्रों से परिचय कराने के लिए, आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!
महादेवी जी को शत शत नमन!

Asha Saxena ने कहा…

उम्दा बुलेटिन |महादेवी वर्मा जी को शत शत नमन |मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार