Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 14 मार्च 2017

ब्लॉगर होली मिलन ब्लॉग बुलेटिन पर

प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,
प्रणाम |
 
आज हिन्दी ब्लॉगर मित्रों का एक होली मिलन समारोह आयोजित किया गया ... मजे की बात यह की इस आयोजन कोई कहीं भी आया गया नहीं ... फिर भी होली मिलन हो ही गया | देश - विदेश के लगभग ३३ ब्लॉगर मित्रों ने इस मे अपने अपने बंधु - बांधव और परिवार के साथ शिरकत की |

अब आप सोचे रहे होंगे कि कैसे !!??

तो देखिये यह चमत्कार कैसे हुआ !!
चित्र पर क्लिक कर बड़ा करें 
 ब्लॉग बुलेटिन की पूरी टीम की ओर से आप सभी को होली की हार्दिक मंगलकामनाएँ|
 

हैप्पी होली ... ;)
सादर आपका 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

कान्हा संग मनाये होली

ठाकुर जी को भोग

अतीत की होली के रंगीन आंचल की तलाश

यहाँ रंग कही गहराया है

538. जागा फागुन (होली के 10 हाइकु)

हमारी नव वर्ष आई है।

बुरा न मानो, होली है!

होली ठैरी होला ठैरा ठैरा तो ठैरा ठैरा ठैरा ठैरी छोड़ ठर्रा ठर्री क्यों कहना ठैरा

होली मुबारक.....

झमकोइया मोरे लाल !!

जोगीरा सारारारारा - जोगीरा सारारारारा....

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~  
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

8 टिप्पणियाँ:

रश्मि प्रभा... ने कहा…

:)

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

:)

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

होली की शुभकामनाएं। शिवम जी ब्लागर होलियारों को पकड़ कर ले आये । बहुत खूब :)
आभार 'उलूक' के सूत्र 'ठैरा ठैरी और ठर्रा ठर्री' को जगह देने के लिये ।

shikha varshney ने कहा…

वाह क्या बात है. होली मुबारक

Kavita Rawat ने कहा…

ये रंग भी खूब जमा .
बहुत सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति ...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

राजा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने कहा…

बहुत सुन्दर

मुकेश पाण्डेय चन्दन ने कहा…

वाह

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार