Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 15 मार्च 2017

140 साल का हुआ टेस्ट क्रिकेट मैच और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।
टेस्ट क्रिकेट आज 140 साल का सफर पूरा कर चुका है और पहले टेस्ट से अब तक यह बदलाव के लंबे दौर से गुजरा है, न केवल नियम के मामले में बल्कि खिलाड़ियों के आचरण के संदर्भ में भी। खास अवसरों को अपने ही अंदाज में बयां करने वाले गूगल ने टेस्ट क्रिकेट के इस 'जन्मदिन' को अपने ही अंदाज में डूडल के माध्यम से याद किया है। आज हम आपको इतिहास के इस पहले टेस्ट मैच के बारे में बताने जा रहे हैं-

ऑस्ट्रेलिया ने जीता था पहला टेस्ट मैच
वैसे इंटरनेशनल क्रिकेट की बात करें, तो पहला मैच 1844 में संयुक्त राज्य अमरीका और कनाडा के बीच खेला गया था, जो एलिसियन फील्ड्स, हॉबोकन, न्यू जर्सी में खेला गया था, लेकिन क्रिकेट के लंबे फॉर्मेट यानी टेस्ट क्रिकेट की आधिकारिक शुरुआत 15 मार्च 1877 में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) में खेले गए इस मैच में इंग्लैंड को 45 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। इंग्लैंड ने अगला टेस्ट मैच जीतकर सीरीज को 1-1 से बराबर कर लिया था। यह मैच चार दिन तक चला था।

किसने बनाया पहला रन और पहला शतक
पहले टेस्ट मैच का टॉस ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जीता और पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। लगभग 1500 दर्शकों की उपस्थिति में कंगारू टीम के लिए पारी की शुरुआत दाएं हाथ के बल्लेबाज चार्ल्स बैनरमैन और दाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज नैट थॉमसन ने की। जहां थॉमसन के लिए पहला ही आधिकारिक मैच बुरा रहा, वहीं बैनरमैन हीरो बनकर उभरे। उन्होंने पारी के पहले ओवर की दूसरी गेंद पर इतिहास का पहला रन लिया। इसके बाद तो वह रुके नहीं और पहले दिन का खेल खत्म होने तक 126 रन बनाकर नाबाद लौटे। इस प्रकार उन्होंने पहले ही टेस्ट मैच में शतक लगाने का गौरव हासिल कर लिया और क्रिकेट इतिहास में अपना नाम दर्ज करवा लिया।

पहला रिटायर्ट हर्ट होने वाला बल्लेबाज
चार्ल्स बैनरमैन ने दूसरे दिन भी शानदार बल्लेबाजी जारी रखी और 165 रन (18 चौके) तक पहुंच गए थे, लेकिन दुर्भाग्य से उनके दाएं हाथ की अंगुली में जॉर्ज यूलिएट की एक गेंद लग गई, जिससे उसमें फ्रैक्चर हो गया और उन्हें रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा। इस प्रकार वह इतिहास के पहले रिटायर्ड हर्ट होने वाले बल्लेबाज भी बन गए। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 245 रन बनाए। खास बात यह कि जहां बैनरमैन ने शतक लगाया, वहीं उनकी टीम का अन्य कोई भी बल्लेबाज 18 रन के आंकड़े को भी पार नहीं कर सका।

किसने लिया पहला विकेट
जहां पहले टेस्ट का पहला रन दूसरी गेंद पर बना था, वहीं टेस्ट इतिहास का पहला विकेट इंग्लैंड के गेंदबाज एलन हिल ने चौथे ओवर में लिया था। उन्होंने कंगारू बल्लेबाज नैट थॉमसन को बोल्ड किया था, जो महज एक रन ही बना पाए थे। ऑस्ट्रलिया के एडवर्ड ग्रेगरी शून्य (डक) पर आउट होने वाले पहले बल्लेबाज बने। साथ ही वह रनआउट होने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए।

मिडविंटर ने पहली बार लिए पारी में 5 विकेट
इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच में कंगारू टीम ने 45 रन से जीत हासिल की। इंग्लैंड की टीम पहली पारी में 196 रन ही बना पाई। ऑस्ट्रेलिया के बिली मिडविंटर ने पहली बार पांच पारी में पांच विकेट झटके। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम 104 नर पर सिमट गई और इंग्लैंड को जीत के लिए 154 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन वह भी संघर्ष नहीं कर पाई और 108 रन पर ही पूरी टीम लौट गई। कंगारू गेंदबाज टॉम केंडल ने 55 रन देकर सात विकेट चटकाए।

पहली सीरीज रही बराबर
भले भी इंग्लैंड की टीम पहले टेस्ट में हार गई, लेकिन उसने दूसरे टेस्ट में शानदार वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को चार विकेट से हराकर सीरीज 1-1 से बराबर कर ली। इस प्रकार टेस्ट इतिहास की पहली सीरीज बराबर रही। इसके अगले ही वर्ष, ऑस्ट्रेलिया ने पहली बार इंग्लैंड का दौरा किया।हालांकि इस दौरे में कोई टेस्ट मैच नहीं हुआ। फिर 1882 में सबसे प्रसिद्ध मैच ओवल पर खेला गया, जिससे एशेज सीरीज की शुरुआत हुई।

भारत ने 1932 में खेल पहला टेस्ट मैच
भारत ने 1932 में टेस्ट क्रिकेट खेलना शुरू किया। भारत ने अभी तक 510 टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें से 138 में जीत हासिल की है और 158 में उसे हार मिली है। 213 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। एक मैच टाई रहा है। सबसे अधिक टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड इंग्लैंड टीम के नाम है।

इंग्लिश टीम ने खेले सबसे ज्यादा टेस्ट
इंग्लिश टीम ने 983 टेस्ट मैच खेले हैं। 351 में उसे जीत मिली है तो 289 में हार का सामना करना पड़ा। 343 मैच डॉ रहे। ऑस्ट्रेलिया ने 799 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से उसे 377 में जीत मिली है। कंगारू टीम महज 214 टेस्ट में हारी है और 2016 मैच ड्रॉ रहे।

बांग्लादेश ने खेले सबसे कम टेस्ट 
सबसे कम टेस्ट मैच की बात करें यह बांग्लादेश के नाम है। इस टीम ने अभी तक 99 टेस्ट मैच खेले हैं। बांग्लादेश 8 टेस्ट मैच जीत पाया है, जबकि 76 में उसे हार का सामना करना पड़ा और 15 मैच ड्रॉ रहे। दुनिया की कुल 10 टीमें टेस्ट क्रिकेट खेल रही हैं। इनमें ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, इंडिया, न्यू जीलैंड, पाकिस्तान, साउथ अफ्रीका, श्रीलंका, वेस्ट इंडीज और जिम्बाब्वे शामिल हैं।

( साभार : http://www.samacharjagat.com/news/sports/first-test-match-google-celebrates-140th-anniversary-131307 )

अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर....


अमर शहीद संदीप उन्नीकृष्णन की ४० वीं जयंती

फूलों में खुशबू कहाँ से आती है?

हंस और कौवा, प्रसांगिकता....

प्रश्न पूछो दिवस

नाक पै आफत

होली पर भंगेड़ियों के लिए जनहित में जारी वैधानिक चेतावनी

जीवन में सबसे महत्वपूर्ण क्या है?

इस शहर के लोग

भरोसा

मेरा एकांत

किस लिए


आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ... अभिनन्दन।।

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन हर्षवर्धन।

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ प्रबात भाई हर्षवर्धन जी
शानदार बुलेटिन
साधुवाद

Asha Saxena ने कहा…

आज ब्लॉग बुलेटिन में मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति ...

Alaknanda Singh ने कहा…

धन्‍यवाद हर्षवर्द्धन जी , नाक को लेकर संजीदा होने की अब आवश्‍यकता है... अब छोड़ो भी शामिल करने के लिए आभार।

राकेश कुमार श्रीवास्तव राही ने कहा…

सुंदर लिंकों से सजी आपकी ब्लॉग बुलेटिन एवं क्रिकेट प्रेमी के लिए, आपका आलेख "140 साल का हुआ टेस्ट क्रिकेट मैच " एक तोहफा है
हर्षवर्धन जी।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार