Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 19 जुलाई 2014

पानी वाला एटीएम - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

अभी तक एटीएम का मतलब आप ऑल टाइम मनी ही जानते होंगे। 5-10 मिनट लाइन में खड़े रहकर आप बैंक से पैसे निकालने के टेंशन से मुक्त रहते हैं। कहीं भी, कभी भी एक छोटे से कार्ड में पैसे लेकर घूम सकने की आजादी आजकल हर किसी की पसंद है। पर अभी तक आपने एटीएम से पैसे की जगह पानी निकलना शायद नहीं देखा होगा।
सोचिए अगर कभी ऐसा हो कि आपने आपने कार्ड डाला, ट्रांजैक्शन किया, अकाउंट से पैसे भी डिडक्ट हुए लेकिन अचानक आप हाथ बढ़ाते हैं तो वहां पैसा नहीं, पानी आ रहा होता है। शायद तब आपको एक छोटा सा हार्ट अटैक आ जाए लेकिन पर उत्तर-पश्चिमी दिल्ली वासियों के लिए यह हार्ट अटैक नहीं बल्कि खुश होने की बात है।
दिल्ली का यह इलाका बेहद गरीब है और पानी की कमी यहां की आम समस्या है। पानी के लिए जल बोर्ड द्वारा लाए उपलब्ध कराए गए वाटर टैंक पर निर्भर रहना यहां लोगों की मजबूरी थी। पर अब ऐसा नहीं है। लोग पानी की जरूरत पड़ने पर कार्ड लेकर एटीएम मशीन जाते हैं और जितनी जरूरत हो पानी निकाल लाते हैं। कोई सरप्राइज हो सकता है कि एटीएम मशीन से पानी? लेकिन यह सच है।
दिल्ली के इस इलाके में पहली बार एक गैर-सरकारी संस्था सर्वजल ने सोलर-पॉवर्ड वाटर एटीएम लगाया है। हर एटीएम मशीन में 500 लीटर क्षमता पानी काउंटर लगाए गए हैं। इलाके के लोगों को एटीएम कार्ड की तरह ही एक कार्ड उपलब्ध कराया गया है। इलाके के सर्विस सेंटर में इस कार्ड में 50-100 रु से कार्ड रिचार्ज करवाया जा सकता है। इस कार्ड के लिए एक नंबर दिया गया है। पानी की जरूरत पड़ने पर इस वाटर एटीएम में कार्ड डालकर साधारण मनी-एटीएम की तरह ही स्क्त्रीन पर आए ऑप्शंस (जिनमें कितने लीटर पानी निकालना है या कितने रु का पानी निकालना है आदि ऑप्शंस होते हैं) में एक को चुनना होता है। इसके बाद चुने गए ऑप्शंस के अनुसार नीचे लगाई गए बरतन या बॉटल में पानी आ जाता है।
इलाके के लोग इस व्यवस्था से बेहद खुश हैं। पहले वे पानी के लिए पूरी तरह जल बोर्ड के वाटर टैंक पर हे निर्भर थे लेकिन अब कभी भी जरूरत पड़ने पर वे कार्ड से पानी निकाल सकते हैं। एक बार में इस एटीम से 20 लीटर पानी निकाला जा सकता है जिसमें एक लीटर पानी के लिए मात्र 30 पैसे कटते हैं। मशीन में कार्ड डालने पर पानी का लीटर ऑप्शन चुनने के बाद कार्ड से उसके अनुसार पैसे अपने आप कट जाते हैं और पानी आ जाता है। कई बार लोग बॉटल में भी सिर्फ पीने के लिए इससे पानी लेकर जाते हैं।
अब तक ऐसे सोलर-पॉवर्ड वाटर एटीम दिल्ली नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली के 14 इलाकों में लग चुका है। इसके 8000 कार्ड भी बंट चुके हैं जिससे 8500 परिवार लाभ ले ले रहे हैं। दिल्ली जल बोर्ड अब अन्य इलाकों में भी ऐसे वाटर एटीएम लगाने की तैयारी कर रहा है। तो अब वह दिन दूर नहीं जब पानी नहीं आने पर आप कार्ड देकर किसी से कहें कि जा एटीएम से जरा इतने लीटर पानी निकाल आ! सुनने में थोड़ा अजीब लेकिन सच है यह। 

सादर आपका
===========================

Vijay : The Street Child (Story of an Orphan Boy)

ये उत्तर प्रदेश है !

रेखा श्रीवास्तव at मेरा सरोकार

बलात्कार की घटनाओं की आड़ में लिंग युद्ध को बढ़ावा न दें

RAJIV CHATURVEDI at Shabd Setu 

वो मिली तो मुस्‍कराई भी नहीं :)

सदा at SADA

लखनऊ की निर्भया की कहानी, पिता की जुबानी;ये है उत्तर प्रदेश की हवा सुहानी

Shalini Kaushik at ! कौशल !

'मैगी' साहित्य

एक दुआ तो माँगो मेरे दिल के सुकून की ………………

निवेदिता श्रीवास्तव at झरोख़ा

मै तुम्हारी ही बात कर रहा हु नराधमो !

Deven Pandey at छद्मलेखक ! 

प्रथम भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के अग्रदूत मंगल पाण्डेय की १८७ वीं जयंती

शिवम् मिश्रा at बुरा भला 

बलात्कार

क्यों जन्में बेटियां

डॉ. मोनिका शर्मा at परवाज़.....शब्दों के पंख

फ़ुरसत में ... फ़ुरसत से ...!

मनोज कुमार at मनोज

नपुंसक समाज के नपुंसकों

प्रेम और प्राप्ति

प्रवीण पाण्डेय at न दैन्यं न पलायनम् 

ऐपल पर ठीक तरह से हिंदी न लिख पाने की व्यथा..

डा प्रवीण चोपड़ा at मीडिया डाक्टर
===========================
अब आज्ञा दीजिये ... 

जय हिन्द !!!

8 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

वाह सुंदर बुलेटिन । पानी टी एम की जानकारी के लिये आभार ।

Bhavana Lalwani ने कहा…

pani wala ATM .. chalo kam se kam paani toh milega ..

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

पानी ए टी एम एक सार्थक प्रयास लगा ....
सूत्र तो हमेशा की तरह स्तरीय हैं .... अब पढ़ते हैं ..... शुभकामनाएं !

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बेहतरीन लिंक्स ....शामिल करने का आभार

Deven Pandey ने कहा…

यह जानकर अच्छा लगा के आपके द्वारा साझा किये गए अधिकतर सूत्र उत्तर प्रदेश की घटना से समबन्धित एवं विचलित रहे है ! संवेदना का परिचय है यहह ...
उत्तर प्रदेश का अब ईश्वर ही मालिक है ! दुखद क्षोभनीय ! अत्यंत घृणात्मक

मनोज कुमार ने कहा…

बुलेटिन में बहुत कुछ नया और काम का मिला।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Preeti 'Agyaat' ने कहा…

पानी वाला एटीएम.... अच्छा लगता है, कहीं कुछ सकारात्मक होता हुआ ! सभी लिंक्स पठनीय और स्तरीय ! इस बहाने कई लोगों को पढ़ने का अवसर मिल जाता है ! आभार, आपका...मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार