Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 3 सितंबर 2013

किशन महाराज, प्यारेलाल और ब्लॉग बुलेटिन

सभी चिठ्ठाकार मित्रों को सप्रेम नमस्कार।।



आज संगीत जगत के दो महान फनकारों का जन्मदिवस है एक हैं भारत के सुप्रसिद्ध तबला वादक स्वर्गीय किशन महाराज जी और दूसरे हैं प्रसिद्ध संगीतकार जोड़ी लक्ष्मीकांत प्यारेलाल में से एक प्यारेलाल जी। स्वर्गीय किशन महाराज जी तबला वादक के साथ साथ मशहूर मूर्तिकार, चित्रकार और कवि हैं। इन्हें कला के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा सन 1973 में पद्म श्री और सन 2002 पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। संगीतकार प्यारेलाल जी के बिना हिंदी सिनेमा के संगीत की कल्पना भी नहीं की जा सकती है इन्होंने अपने जोड़ीदार लक्ष्मीकांत जी के साथ मिलकर एक से बढ़कर एक हिट गीत हिंदी सिनेमा को दिया है। लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की जोड़ी ने मिलकर सात बार सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का फिल्मफेयर पुरस्कार भी जीता है। 


आज इनके जन्म दिवस के मौके पर पूरा हिंदी ब्लॉगजगत और हमारी पूरी ब्लॉग बुलेटिन टीम इन दो महान फनकारों को नमन करती है। 



अब चलते हैं आज की बुलेटिन  की ओर …. 















तब तक के लिए शुभ रात्रि। कल फिर मिलेंगे।

15 टिप्पणियाँ:

रश्मि शर्मा ने कहा…

दोनों फनकारों को हमारा नमन...बढ़ि‍या है बुलेटि‍न..मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए धन्‍यवाद....

राजीव कुमार झा ने कहा…

शानदार लिंक्स .'यूं ही कभी' से मेरे पोस्ट 'गुलमोहर के गाँव' को शामिल करने के लिये आभार .

Darshan jangra ने कहा…

शानदार लिंक्स

ajay yadav ने कहा…

शानदार लिंक्स

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आभार!

सतीश सक्सेना ने कहा…

बढ़िया लिंक दिए हैं , आभार आपका

पूरण खण्डेलवाल ने कहा…

सुन्दर सूत्रों का संकलन !!
आभार !!

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुत बढिया हर्षवर्धन , शिवम भाई को अब एक जोडीदार मिल गया है तुम्हारे रूप में । बहुत ही शानदार प्रस्तावना के साथ सुंदर लिंक्स का संयोजन । बुलेटिन सामयिक और सार्थक :)

Lalit Chahar ने कहा…

सुन्दर सूत्रों का संकलन !!
आभार !!

मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए धन्‍यवाद....

---
आप अभी तक हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {साप्ताहिक चर्चामंच} की चर्चा हम-भी-जिद-के-पक्के-है -- हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल चर्चा : अंक-002 मे शामिल नही हुए क्या.... कृपया पधारें, हम आपका सह्य दिल से स्वागत करता है। आपके विचार मेरे लिए "अमोल" होंगें | आगर आपको चर्चा पसंद आये तो इस साइट में शामिल हों कर आपना योगदान देना ना भूलें। सादर ललित चाहार

शिवम् मिश्रा ने कहा…

स्वर्गीय किशन महाराज जी और प्यारेलाल जी को शत शत नमन !

बहुत बढ़िया बुलेटिन हर्ष ... बस ऐसे ही जमाये रहो !

Archana ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन ...प्रस्तावना अच्छी लगी ... कुछ नये लिंक भी मिले ..

Darshan jangra ने कहा…

मर्त्य देश के निवासी - हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः12

HARSHVARDHAN TRIPATHI ने कहा…

बढ़िया है नामराशि!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

पठनीय सूत्र..

Veena Srivastava ने कहा…

अच्छे लिंक...

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार